hinditoper.com

hinditoper.com
भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय

भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय | bhawani prasad mishra jeevan parichay

भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय जिसमें भवानी प्रसाद मिश्र का भावपक्ष, भाषाशैली एवं भवानी प्रसाद मिश्र की प्रमुख रचनाएं आदि विस्तृत रूप से इस लेख में दिए गए हैं।

भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय

जन्म – 29 मार्च, सन् 1913 होशंगाबाद

मृत्यु – 20 फरवरी, सन् 1985, नरसिंहपुर

प्रमुख रचनाएं – गीत फरोश, चकित है दुःख और जिन्होंने मुझे रचा आदि।

भावपक्ष –

सामाजिक भाव – भवानी प्रसाद मिश्र जी की कविता व्यक्तिवादी कविता नहीं है। वह सामाजिक भाव से संपन्न है, उन्होंने अपने विषय में सामाजिक अन्याय, शोषण आदि का वर्णन किया है।

प्रकृति चित्रण – भवानी प्रसाद मिश्र जी के काव्य रचनाओं में प्रकृति के सहज, मोहक और यथार्थ रूप का वर्णन विशेष रूप से मिलता है।

कलापक्ष –

शैली – मिश्रा जी ने अपनी रचनाओं बिंब प्रधान प्रतीकात्मक, प्रतीकात्मक, आत्मीय व कलात्मकता इनके काव्य शैली की प्रमुख विशेषता है।

साहित्य में स्थान

FAQ’s

कविता का गांधी किसे कहा जाता है?

भवानी प्रसाद मिश्र को कविता का गांधी कहा जाता है, क्योंकि मिश्र जी गांधी दर्शन से अत्यंत प्रभावित हुए थे।

भवानी प्रसाद मिश्र की दो रचना कौन कौनसी है?

गीत फरोश और जिन्होंने मुझे रचा भवानी प्रसाद मिश्र की प्रमुख रचनाएं हैं।

भवानी प्रसाद मिश्र का साहित्य में स्थान?

भवानी प्रसाद मिश्र बाहर से जितने सीधे और सरल थे, भीतर से उतने ही उज्जवल व ईमानदार। भवानी प्रसाद मिश्र नए कवियों में अत्यंत लोकप्रिय कवि है।

दूसरे तार सप्तक का प्रथम कवि कौन है?

भवानी प्रसाद मिश्र को दूसरे तार सप्तक का प्रथम कवि माना जाता है।

1 thought on “भवानी प्रसाद मिश्र का जीवन परिचय | bhawani prasad mishra jeevan parichay”

  1. Pingback: स्वयं प्रकाश का जीवन परिचय | प्रमुख रचनाएं, भाषा शैली

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *