hinditoper.com

hinditoper.com
मन्नू भंडारी का जीवन परिचय

मन्नू भंडारी की भाषा शैली | मन्नू भंडारी का जीवन परिचय

मन्नू भंडारी का जीवन परिचय एवं मन्नू भंडारी की भाषा शैली सहित इस लेख में विस्तृत जानकारी जैसे जन्म-मृत्यु, प्रमुख रचनाएं, उनका साहित्य में स्थान आदि बिंदुओं पर जानकारियां दी गई है।

मन्नू भंडारी का जीवन परिचय

जन्म – 3 अप्रैल, सन् 1931, मध्य प्रदेश

मृत्यु – 15 नवंबर, सन् 2021

मन्नू भंडारी की भाषा शैली

भाषा – मन्नू भंडारी की भाषा सरल, सहज व स्वाभाविक है। इनकी भाषा भावाभिव्यक्ति में सक्षम है। मन्नू भंडारी की रचनाओं में बोलचाल की हिंदी भाषा के साथ-साथ लोक प्रचलित भाषाएं जैसे उर्दू, अंग्रेजी देशज शब्दों की बहुलता देखी जा सकती है। उनके वाक्य विन्यास व्याकरण सम्मत एवं सरल है।

मन्नू भंडारी का साहित्य में स्थान

साहित्य में स्थान – मन्नू भंडारी एक अनुभवी कहानीकार है। नई कहानी आंदोलन में उन्होंने अपना विशेष योगदान दिया। उन्होंने अपनी रचनाओं में सामाजिक जीवन का यथार्थ चित्रण किया है। मन्नू भंडारी ने अपनी रचनाओं में व्यंग्य संवेदना और आक्रोश को मनोवैज्ञानिक आधार बनाया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *