hinditoper.com

hinditoper.com
मियां नसीरुद्दीन पाठ

मियां नसीरुद्दीन पाठ के प्रश्न उत्तर | मियां नसीरुद्दीन पाठ का सारांश

मियां नसीरुद्दीन पाठ

मियाँ नसीरुद्दीन शब्दचित्र हम-हशमत नामक संग्रह से लिया गया है। इसमें खानदानी नानबाई मियाँ नसीरुद्दीन के व्यक्तित्व, रुचियों और स्वभाव का शब्दचित्र खींचा गया है। मियाँ नसीरुद्दीन अपने मसीहाई अंदाज़ से रोटी पकाने की कला और उसमें अपने खानदानी महारत को बताते हैं। वे ऐसे इनसान का भी प्रतिनिधित्व करते हैं जो अपने पेशे को कला का दर्जा देते हैं और करके सीखने को असली हुनर मानते हैं।

कृष्णा सोबती का जीवन परिचय

जन्म: 18 फ़रवरी सन् 1925, गुजरात (पश्चिमी पंजाब- वर्तमान में पाकिस्तान)

मृत्युः 25 जनवरी सन् 2019

प्रमुख रचनाएँ: जिंदगीनामा, दिलोदानिश, ऐ लड़की, समय सरगम (उपन्यास) | डार से बिछुड़ी, मित्रो मरजानी, बादलों के घेरे, सूरजमुखी अँधेरे के (कहानी संग्रह) | हम-हशमत, शब्दों के आलोक में (शब्दचित्र, संस्मरण)

प्रमुख सम्मानः साहित्य अकादमी सम्मान, हिंदी अकादमी का शलाका सम्मान, साहित्य अकादमी की महत्तर सदस्यता सहित अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार।

हिंदी कथा साहित्य में कृष्णा सोबती की विशिष्ट पहचान है। वे मानती हैं कि कम लिखना विशिष्ट लिखना है। यही कारण है कि उनके संयमित लेखन और क-सुथरी रचनात्मकता ने अपना एक नित नया पाठक वर्ग बनाया है।

भारत पाकिस्तान पर जिन लेखकों ने हिंदी में कालजयी रचनाएँ लिखीं, उनमें कृष्णा सोबती का नाम पहली कतार में रखा जाएगा। बल्कि यह कहना उचित होगा कि यशपाल के झूठा सच, राही मासूम रजा के आधा गाँव और भीष्म साहनी के तमस के साथ-साथ कृष्णा सोबती का ज़िंदगीनामा इस प्रंसग में एक विशिष्ट उपलब्धि है।

मियां नसीरुद्दीन पाठ के प्रश्न उत्तर

1. कृष्णा सोबती जी का जन्म कब और कहां हुआ?

सन् 1925 में, गुजरात में

2. कृष्णा सोबती जी के दो उपन्यास के नाम लिखे?

दिलोदानिश, समय सरगम

3. कृष्णा सोबती जी की दो कहानी संग्रह के नाम बताए?

बादलों के घेरे, सूरजमुखी अंधेरे के

4. झूठा सच उपन्यास के रचनाकार कौन है?

यशपाल

5. हम हशमत कृष्णा सोबती की किस प्रकार की विधा है?

संस्मरण

6. मियां नसीरुद्दीन की उम्र कितनी वर्ष थी?

70 वर्ष

7. मियां नसीरुद्दीन किस पर बैठकर बीड़ी का मजा ले रहे थे?

चारपाई

8. हिंदी कथा साहित्य में किस लेखिका की विशिष्ट पहचान है?

कृष्णा सोबती जी की

9. मियां नसीरुद्दीन का खानदानी काम क्या था?

रोटी बनना

10. तुनकी किससे ज्यादा महीन होती है?

पापड़

11. मियां नसीरुद्दीन शब्द चित्र कृष्णा सोबती के किस रचना संग्रह से लिया गया है?

हम हशमत

12. तरह तरह की रोटी बनाने, बेचने वाले को क्या कहते है?

नानबाई

13. इल्म शब्द का अर्थ क्या होता है?

ज्ञान या विद्या

14. कपड़ा रंगने वाला क्या कहलाता है?

रंगरेज

15. वालिद शब्द का अर्थ है?

पिता

16. नानबाईयो का मसीहा किसे कहा गया है?

मियां नसीरुद्दीन को

17. मियां नसीरुद्दीन को कितने प्रकार की रोटियां बनाना की कला याद थी?

56 प्रकार की

18. मियां के वालिद किस नाम से मशहूर थे?

मियां बरकद

19. मियां नसीरुद्दीन के दादा किस नाम से मशहूर थे?

आला नानबाई मियां कल्लन

20. रोटी किससे पकती है?

आंच से

21. मियां नसीरुद्दीन पाठ में लेखिका कहा से निकलती है?

मटियामहल के गड़ैया मुहल्ले से

22. मियां नसीरुद्दीन किसको निठल्ला समझते है?

अखबार पढ़ने वाले को और अखबार बनाने वाले को

23. कहावत के अनुसार खानदानी नानबई कहा रोटी पका सकता है?

कुएं में भी

24. मियां नसीरुद्दीन के कारीगर का नाम क्या था?

मियां बब्बन

25. एक मन कितना होता है?

40 किलों

26. मियां नसीरुद्दीन एक मन आटे की मजूरी कितनी देते थे?

2 रूपये

27. मियां नसीरुद्दीन एक मन मैदे की मजूरी कितनी देते थे?

4 रूपये

28. मियां नसीरुद्दीन के द्वारा बनाई जाने वाली रोटियों के नाम बताइए?

बाकरखानी, शीरमाल, ताफ़तान, बेसनी, खमीरी, रूमाली, गाव, दीदा, गाज़ेबान, तुनकी आदि

29. मियां नसीरुद्दीन द्वारा बनाई जाने वाली किन्ही दो रोटियों के नाम लिखे?

बाकरखानी और रूमाली

30. कौनसी रोटी पापड़ से ज्यादा महीन होती है?

तुनकी रोटी

31. मियां नसीरुद्दीन पाठ में मियां नसीरुद्दीन किन दो व्यक्तियों को पुकारते है?

मियां रहमत और मीर साहिब

32. मियां नसीरुद्दीन ने मीर साहिब से क्या प्रश्न किया?

कहो भाई मीर साहिब! सुबह न आना हुआ, पर क्यों?

33. मियां नसीरुद्दीन ने मियां रहमत से क्या प्रश्न किया?

मियां रहमत, इस वक्त किधर को !

मियां नसीरुद्दीन पाठ का सारांश

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *