hinditoper.com

hinditoper.com
मेरे बचपन के दिन महादेवी वर्मा

मेरे बचपन के दिन महादेवी वर्मा | mere bachpan ke din mcq

इस article में हम कक्षा 9 वी की पाठ्यपुस्तक क्षितिज भाग 1 के मेरे बचपन के दिन महादेवी वर्मा पाठ के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करेंगे। मेरे बचपन के दिन एक संस्मरण है जिसे महादेवी वर्मा जी ने लिखा है। मेरे बचपन के दिन पाठ की लेखिका के बारे में, पाठ के बारे में, mere bachpan ke din mcq और mere bachpan ke din path ka saransh जानेंगे।

लेखिका महादेवी वर्मा जी

प्रयाग महिला विद्यापीठ में प्राचार्या पद पर लंबे समय तक कार्य करते हुए उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के लिए काफ़ी प्रयत्न किए। सन् 1987 में उनका देहांत हो गया।

महादेवी जी छायावाद के प्रमुख चार स्तंभों के लेखक / कवियों में से एक थीं। नीहार, रश्मि, नीरजा, यामा, दीपशिखा उनके प्रमुख काव्य संग्रह हैं।

कविता के साथ-साथ उन्होंने सशक्त गद्य रचनाएँ भी लिखी हैं जिनमें रेखाचित्र तथा संस्मरण प्रमुख हैं। गिल्लू, अतीत के चलचित्र, स्मृति की रेखाएँ, पथ के साथी, श्रृंखला की कड़ियाँ उनकी महत्वपूर्ण गद्य रचनाएँ हैं।

महादेवी वर्मा को साहित्य अकादमी एवं ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण से अलंकृत किया।

महादेवी वर्मा की साहित्य साधना के पीछे एक ओर आज़ादी के आंदोलन की प्रेरणा है तो दूसरी ओर भारतीय समाज में स्त्री जीवन की वास्तविक स्थिति का बोध भी है। हिंदी गद्य साहित्य में संस्मरण एवं रेखाचित्र को बुलंदियों तक पहुँचाने का श्रेय महादेवी जी को है।

उनके संस्मरणों और रेखाचित्रों में शोषित, पीड़ित लोगों के प्रति ही नहीं बल्कि पशु-पक्षियों के लिए भी आत्मीयता एवं अक्षय करुणा प्रकट हुई है। उनकी भाषा-शैली सरल एवं स्पष्ट है तथा शब्द चयन प्रभावपूर्ण और चित्रात्मक।

मेरे बचपन के दिन (महादेवी वर्मा)

मेरे बचपन के दिन में महादेवी जी ने अपने बचपन के उन दिनों को स्मृति के सहारे लिखा है जब वे विद्यालय में पढ़ रही थीं।

इस अंश में लड़कियों के प्रति सामाजिक रवैये, विद्यालय की सहपाठिनों, छात्रावास के जीवन और स्वतंत्रता आंदोलन के प्रसंगों का बहुत ही सजीव वर्णन है।

mere bachpan ke din mcq

1. मेरे बचपन के दिन किसकी रचना है?

महादेवी वर्मा जी की

2. महादेवी वर्मा जी किस युग की लेखिका है?

छायावाद युग की

3. महादेवी वर्मा जी का जन्म कब हुआ था?

सन् 1907 में

4. महादेवी वर्मा का जन्म कहां हुआ था?

फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश में

5. किस महिला विद्यापीठ में महादेवी वर्मा लंबे समय तक प्राचार्या पद पर कार्यरत थी?

प्रयाग महिला विद्यापीठ

6. छायावाद युग के प्रमुख चार स्तंभ कौन कौन से हैं?

जयशंकर प्रसाद, सुमित्रा नंदन पंत, सूर्यकांत त्रिपाठी निराला और महादेवी वर्मा

7. महादेवी वर्मा का निधन कब हुआ?

सन् 1987 में

8. स्मृति की रेखाएं किसकी रचना है?

महादेवी वर्मा जी की

9. मेरे बचपन के दिन किस प्रकार की विधा है?

संस्मरण

10. भारत सरकार द्वारा कौनसा सम्मान महादेवी वर्मा को प्राप्त है?

पद्मभूषण

11. महादेवी वर्मा के परिवार में वे कितने वर्षों बाद जन्मी थी?

200 वर्ष तक

12. परमधाम का अर्थ है?

स्वर्ग

13. महादेवी वर्मा के कुल की देवी कौन थी?

दुर्गा माता

14. महादेवी वर्मा जी की माताजी कहा की थी?

जबलपुर

15. महादेवी वर्मा की माताजी ने उन्हें क्या पढ़ाया?

पंचतंत्र

16. विदुषी का शाब्दिक अर्थ क्या है?

महिला या स्त्री विद्वान

17. महादेवी वर्मा के बाबा उन्हे क्या बनना चाहते थे?

विदुषी

18. महादेवी वर्मा को सबसे पहले कौनसे स्कूल में भेजा गया था?

मिशन स्कूल में

19. मिशन स्कूल के पश्चात उन्हे कहा भेजा गया?

क्रास्थवेट गर्ल्स कॉलेज

20. महादेवी वर्मा के कमरे में कितनी लड़कियां रहती थी?

चार

21. क्रास्थवेट गर्ल्स कॉलेज में महादेवी वर्मा को कौन मिला?

सुभद्रा कुमारी चौहान

22. महादेवी वर्मा क्रास्थवेट गर्ल्स कॉलेज में कौनसे दर्जे में भर्ती हुई?

पांचवे दर्जे में

23. सुभद्रा कुमारी चौहान, महादेवी वर्मा से कितने साल सीनियर थी?

2 साल

24. प्रभाती क्या अर्थ बताएं?

सवेरे गाया जाने वाला गीत

25. सुभद्रा कुमारी चौहान किस भाषा में अपनी रचनाओं को लिखती थी?

खड़ी बोली में

26. महादेवी वर्मा और सुभद्रा कुमारी जी अपनी कविता किस पत्रिका में भेजती थी?

स्त्री दर्पण

27. स्त्री दर्पण पत्रिका कहा प्रकाशित होती थी?

इलहाबाद में

28. स्त्री दर्पण पत्रिका का संपादन कौन करता था?

श्रीमती रामेश्वरी नेहरू

29. स्त्री दर्पण पत्रिका का मुख्य उद्देश्य क्या था?

स्त्रियों में व्याप्त अशिक्षा और कुरीतियों के प्रति जागृति पैदा करना

30. स्त्री दर्पण पत्रिका कब से कब तक प्रकाशित हुई?

सन् 1909 से सन् 1924 तक

31. महादेवी वर्मा को कवि सम्मेलन में प्रथम आने पर क्या मिला?

चांदी का कटोरा

32. कौन कवि सम्मेलन में नहीं जाता था?

सुभद्रा कुमारी जी

33. सुभद्रा कुमारी जी ने महादेवी वर्मा से चांदी के कटोरे में क्या खाने को कहा?

खीर

34. चांदी का कटोरा महादेवी वर्मा ने किसे दे दिया?

महात्मा गांधी को

35. फूल का कटोरा किसका बनता है?

तांबा और रांगे के मेल से बनी मिश्र धातु

36. किस बात से महादेवी वर्मा मन ही मन प्रसन्न थी?

पुरुस्कार में मिला कटोरा बापू को देने पर

37. सुभद्रा जी के छात्रावास छोड़कर चले जाने पर कौन उनकी जगह आया?

मराठी लड़की जेबुनिंसा

38. कौन महादेवी का छोटा मोटा काम कर देती थी?

जेबुन (जेबुनिंसा)

39. मराठी महिलाएं किस तरह की साड़ी पहनती है?

किनारीदार साड़ी और ब्लाऊज़

40. महादेवी वर्मा जहां रहती थी वहां और कौन रहता था?

जवारा के नवाब

41. निराहार शब्द का क्या अर्थ है?

बिना कुछ खाए पिए

42. महादेवी वर्मा के भाई का नाम क्या था?

मनमोहन

43. मनमोहन यह नाम किसने रखा था?

जवारा के नवाब की बेगम ने

44. मनमोहन वर्मा किस यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर थे?

जम्मू और गोरखपुर यूनिवर्सिटी के

45. जवारा के नवाब की बेगम को महादेवी वर्मा क्या कहकर बुलाती थी?

ताई साहिबा

मेरे बचपन के दिन महादेवी वर्मा पाठ का सारांश

मेरे बचपन के दिन पाठ महादेवी वर्मा जी द्वारा लिखी गई रचना है, जिसकी विधा संस्मरण है। Mere bachpan ke din में महादेवी वर्मा ने अपने बचपन के अनुभव का सांझा किया है। अपने बचपन के पल और घटनाओं को स्मरण करते हुए वह इस संस्मरण को लिखती है।

मेरे बचपन के दिन FAQS

मेरे बचपन के दिन का लेखक कौन है?

मेरे बचपन के दिन पाठ के लेखक का नाम महादेवी वर्मा है। महादेवी वर्मा छायावाद युग की लेखिका है।

मेरे बचपन के दिन कौन सी विधा है?

मेरे बचपन के दिन पाठ की विधा संस्मरण है, जिसे महादेवी वर्मा ने लिखा है।

मेरे बचपन के दिन पाठ से कैसे पता चलता है कि उस समय सांप्रदायिकता नही थी?

मेरे बचपन के दिन पाठ में महादेवी वर्मा ने बताया कि बोली में, भाषा में और पहनावे में अंतर होने के कारण उस समय सांप्रदायिकता थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *