hinditoper.com

hinditoper.com
विदाई संभाषण पाठ

विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर | विदाई संभाषण पाठ का सारांश

विदाई संभाषण पाठ के लेखक बालमुकुंद गुप्त जी है कक्षा 11वीं विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर और विदाई संभाषण पाठ का सारांश इस लेख में विस्तृत रूप से दिए गए हैं। विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर pdf तथा विदाई संभाषण पाठ का उद्देश्य, विदाई संभाषण पाठ से संबंधित विस्तृत जानकारी इस लेख में दी गई है। 

विदाई संभाषण पाठ

विदाई- संभाषण उनकी सर्वाधिक चर्चित व्यंग्य कृति ‘शिवशंभु के चिट्ठे’ का एक अंश है। यह पाठ वायसराय कर्जन (जो 1899-1904 एवं 1904-1905 तक दो बार वायसराय रहे) के शासन में भारतीयों की स्थिति का खुलासा करता है। कहने को उनके शासन काल में विकास के बहुत सारे कार्य हुए, नए-नए आयोग बनाए गए, किंतु उन सबका उद्देश्य शासन में गोरों का वर्चस्व स्थापित करना एवं साथ ही इस देश के संसाधनों का अंग्रेजों के हित में सर्वोत्तम उपयोग करना था। 

हर स्तर पर कर्ज़न ने अंग्रेजों का वर्चस्व स्थापित करने की कोशिश की। वे सरकारी निरंकुशता के पक्षधर थे। लिहाजा प्रेस की स्वतंत्रता तक पर उन्होंने प्रतिबंध लगा दिया। अंततः कौंसिल में मनपसंद अंग्रेज़ सदस्य नियुक्त करवाने के मुद्दे पर उन्हें देश विदेश दोनों जगहों पर नीचा देखना पड़ा। क्षुब्ध होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया और वापस इंग्लैंड चले गए। 

शिवशंभु के चिट्ठे से ली गई पंक्ति – जो लिखना था, वह लिखा गया। अब खुलासा बात यह है कि एक बार ‘शो’ और ‘ड्यूटी’ का मुकाबिला कीजिए।  (शिवशंभु के चिट्टे)

बाल मुकुंद गुप्त जी का जीवन परिचय

जन्मः सन् 1865, ग्राम गुड़ियानी, जिला रोहतक (हरियाणा)

मृत्यु: सन् 1907

प्रमुख संपादन : अखबार ए- चुनार, हिंदुस्तान, हिंदी बंगवासी, भारतमित्र आदि प्रमुख रचनाएँ : शिवशभु के चिट्टे, चिट्ठे और खत, खेल तमाशा 

गुप्त जी की आरंभिक शिक्षा उर्दू में हुई। बाद में उन्होंने हिंदी सीखी। विधिवत् शिक्षा मिडिल तक प्राप्त की, मगर स्वाध्याय से काफ़ी ज्ञान अर्जित किया। वे खड़ी बोली और आधुनिक हिंदी साहित्य को स्थापित करने वाले लेखकों में से एक थे। उन्हें भारतेंदु युग और द्विवेदी युग के बीच की कड़ी के रूप में देखा जाता है।

विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर

1. बालमुकुंद गुप्त जी का जन्म कब हुआ?

सन् 1865 में

2. बालमुकुंद गुप्त जी का जन्म कहां हुआ?

ग्राम गुड़ियानी, जिला रोहतक हरियाणा में

3. भारतमित्र के संपादक कौन है?

बालमुकुंद गुप्त जी

4. बालमुकुंद गुप्त जी की प्रमुख रचनाएं के नाम क्या हैं?

शिवशंभु के चिट्ठे, चिट्ठे और खत, खेल तमाशा

5. बालमुकुंद गुप्त जी की मृत्यु कब हुई?

सन् 1907 में

6. बालमुकुंद गुप्त जी की प्रारंभिक शिक्षा किस भाषा में हुई?

उर्दू भाषा में

7. उर्दू भाषा के बाद बालमुकुंद गुप्त जी ने कौनसी भाषा सीखी?

हिंदी

8. बालमुकुंद गुप्त जी ने अपनी शिक्षा कहा तक पूर्ण की?

आठवीं तक

9. भारतेंदु युग और द्विवेदी युग के बीच की कड़ी किसे कहा गया है?

बालमुकुंद गुप्त जी को

10. बालमुकुंद गुप्त किन किन युगों के बीच की कड़ी थे?

भारतेंदु युग और द्विवेदी युग के बीच की कड़ी

11. बालमुकुंद गुप्त जी किस पत्रिका के सक्रिय पत्रकार थे?

राष्ट्रीय नवजागरण

12. बालमुकुंद गुप्त जी के लिए स्वाधीनता संग्राम का हथियार कौन थी?

पत्रकारिता

13. बालमुकुंद गुप्त जी ने किन किन भाषा की रचनाओं के अनुवाद किए?

बांग्ला और संस्कृत भाषा

14. किस शब्द को लेकर बालमुकुंद गुप्त जी ने महावीर प्रसाद द्विवेदी जी से लंबी बहस की?

अनस्थिरता शब्द

15. अनस्थिरता शब्द को लेकर बालमुकुंद गुप्त जी ने किससे लंबी बहस की?

महावीर प्रसाद द्विवेदी जी से

16. विदाई संभाषण पाठ की विधा क्या है?

व्यंग्य

17. विदाई संभाषण पाठ बालमुकुंद गुप्त जी की कौनसी कृति का अंश है?

शिवशंभु के चिट्ठे

18. विदाई संभाषण पाठ किस वायसराय के शासन काल का खुलासा करता है?

वायसराय लॉर्ड कर्जन का

19. वायसराय लॉर्ड कर्जन कितनी बार भारत के वायसराय रहे?

दो बार

20. वायसराय लॉर्ड कर्जन कब कब भारत के वायसराय रहे?

पहली बार सन् 1899 से 1904 तक तथा दूसरी बार 1904 से 1905 तक

21. लॉर्ड कर्जन इस्तीफा देकर कहा चले गए?

इंग्लैंड

22. लॉर्ड कर्जन किस पक्ष के पक्षधर थे?

सरकारी निरकुंशता के

23. लॉर्ड कर्जन ने किस पर प्रतिबंध लगा दिया था?

प्रेस की स्वतंत्रता पर

24. लॉर्ड कर्जन को नीचा क्यों देखना पड़ा?

कौंसिल में मनपसंद अंग्रेज सदस्य नियुक्त करवाने के मुद्दे पर

25. विदाई संभाषण पाठ में किस वायसराय का उल्लेख हुआ है?

वायसराय लॉर्ड कर्जन

26. चिरस्थाई शब्द का अर्थ क्या है?

हमेशा रहने वाला, टिकाऊ

27. विदाई संभाषण पाठ में लेखक ने तीसरी शक्ति किसे कहा है?

ब्रिटिश शासन को

28. विदाई संभाषण पाठ में लेखक ने पहली और दूसरी शक्ति किसे कहा है?

पहली शक्ति वायसराय को तथा दूसरी शक्ति भारतवासियों को

29. कौनसा समय बड़ा करुणोत्पादक होता है?

बिछड़न समय

30. विदाई संभाषण पाठ में भारत के नागरिक क्या चाहते थे?

जल्द ही श्रीमान् यहां से पधारे अर्थात् लॉर्ड कर्जन यह से चले जाए

31. विदाई संभाषण व्यंग्य में बिछड़न समय में कौनसा भाव और कौनसा रस उत्पन्न होता है?

आविर्भाव और शांत रस

32. शिवशंभु की कितनी गाय थी?

दो

33. शिवशंभु की एक गाय टक्कर मारकर किसको गिरा देती थी?

कमजोर गाय को

34. टक्कर मरने वाली गाय को शिवशंभु ने किसे दे दिया?

पुरोहित को

35. टक्कर मरने वाली गाय के चले जाने से कौन प्रसन्न नही हुआ?

दुर्बल गाय

36. टक्कर मरने वाली गाय के जाने के बाद कौन भूखी खड़ी रही?

दुर्बल गाय

37. शासन काल में कौनसी परंपरा होती है?

जो आता है उसका जाना तय है

38. बंबई शहर का वर्तमान नाम क्या है?

मुंबई

39. विदाई संभाषण पाठ में लॉर्ड कर्जन ने बेबस भारतवासियों को किस तरह अपने इशारों पर नचाया है?

पानी की बूंदों की भांति

40. लॉर्ड कर्जन और उनकी लेडी की कुर्सी किस धातु की बनी थी?

सोने की

41. लॉर्ड कर्जन के प्रभु महाराज के छोटे भाई और उनकी पत्नी की कुर्सी किस धातु की बनी थी?

चांदी की

42. विदाई संभाषण पाठ में जुलूस में सबसे आगे हाथी किसका रहता था?

लॉर्ड कर्जन का

43. ब्रिटिश शासन काल में लेखक के अनुसार लॉर्ड कर्जन का कौनसा दर्जा था?

तीसरा

44. ब्रिटिश शासन काल में लेखक के अनुसार पहला और दूसरा दर्जा किसका था?

पहला दर्जा ईश्वर का और दूसरा दर्जा महाराज एडवर्ड का

45. तिलांजलि शब्द का क्या अर्थ होता है?

त्याग देना

46. ब्रिटिश शासन काल में भारत देश में किसके इशारे में प्रलय आ जाया करता था?

लॉर्ड कर्जन के

47. लॉर्ड कर्जन ने राजाओं को किसके भांति तोड़ फोड़ दिया था?

मिट्टी के खिलौनों के भांति

49. लॉर्ड कर्जन के एक इशारे में शिक्षा क्या हो गई?

पायमाल

50. पायमाल शब्द का अर्थ है?

नष्ट

51. लॉर्ड कर्जन ने इस्तीफा क्यों दिया?

क्योंकि फौजी अफसर उनके इच्छित पद पर नियत न हो सका, गुस्से के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा

52. लॉर्ड कर्जन द्वारा दिया गया स्वयं का इस्तीफा मंजूर हुआ?

हां, ब्रिटिश शासन द्वारा उसे मंजूर कर लिया गया

53. विदाई संभाषण पाठ में लेखक के अनुसार ब्रिटिश शासन की क्या परिभाषा है?

  1. किसी की कुछ न सुनना ही शासन है।
  2. प्रजा की बात पर कभी कान न देना और उसको दबाकर उसकी मर्जी के विरुद्ध जिद्द से सब काम किए चले जाना ही शासन कहलाता है।

54. ज़ार शब्द का पहली बार प्रयोग किस शासक के लिए हुआ?

बुल्गेरियाई शासक के लिए

55. नादिरशाह कहा का शासक था?

ईरान का

56. नादिरशाह को किस नाम से जाना जाता था?

नेपोलियन ऑफ़ परशिया

57. पानीपत के तीसरे युद्ध में अहमदशाह अब्दाली को किसने भेजा था?

नादिरशाह ने

58. नादिरशाह ने कहा पर कत्लेआम किया था?

दिल्ली में

59. किसके प्रार्थना करने पर नादिरशाह ने तलवार को रोक दिया?

आसिफ़जाह के

60. लॉर्ड कर्जन किसका विभाजन करना चाहते थे?

बंग का (बंग भंग)

61. ब्रिटिश शासन काल के समय भारत की अनपढ़ प्रजा किस राजकुमार का गीत गाया करती थी?

नर सुलतान नामक राजकुमार

62. सुलतान ने अपनी विपत्ति के कई साल कहा गुजारे?

नरवरगढ़ नामक स्थान पर

विदाई संभाषण पाठ का उद्देश्य

विदाई संभाषण पाठ का सारांश

यह व्यंग्य उस समय लिखा गया है जब प्रेस पर पाबंदी का दौर चल रहा था। ऐसी स्थिति में विनोदप्रियता, चुलबुलापन, संजीदगी, नवीन भाषा-प्रयोग एवं रवानगी के साथ यह एक साहसिक गद्य का नमूना है। लेखक कर्जन को संबोधित करते हुए कहता है कि आखिरकार आपके शासन का अंत हो ही गया, अन्यथा आप तो यहाँ के स्थाई वायसराय बनने की इच्छा रखते थे।

प्रश्नों के उत्तर (FAQs)

विदाई संभाषण क्या है?

बालमुकुंद गुप्त जी की रचना शिवशंभु के चिट्ठे से लिया गया अंश है, जिसमे लेखक बालमुकुंद गुप्त व्यंग्य कर लॉर्ड कर्जन को शर्मिंदा कर रहे है

विदाई संभाषण पाठ का क्या उद्देश्य है?

विदाई संभाषण पाठ के लेखक बालमुकुंद गुप्त का उद्देश्य है कि ब्रिटिश शासन काल में लॉर्ड कर्जन के शासन में भारतवासियों पर हुए अत्याचारों का उजागर करना।

विदाई संभाषण पाठ की विधा क्या है?

विदाई संभाषण पाठ की विधा व्यंग्य है। विदाई संभाषण बालमुकुंद गुप्त जी की प्रमुख रचना शिवशंभु के चिट्ठे का एक अंश है।

शिवशंभु की दो गायों की कहानी के माध्यम से लेखक क्या कहना चाहता है?

शिवशंभु की दो गायों की कहानी के माध्यम से लेखक यह बताना चाहते है की भारत एक ऐसा देश है जहां मनुष्य के साथ साथ पशु भी भावनाओं से जुड़ा रहता है।

लॉर्ड कर्जन को इस्तीफा क्यों देना पड़ा?

लॉर्ड कर्जन को इस्तीफा क्यों देना पड़ा? इसके दो मुख्य कारण है –

1. लॉर्ड कर्जन ने बंगाल विभाजन कर दिया जिसके विरोध में सारा देश एकजुट हो गया, जिससे ब्रिटिश शासन हिल गया।

2. लॉर्ड कर्जन एक फौजी अफसर को अपनी इच्छित पद पर नियत करना चाहता था परंतु ऐसा नही हुआ और उसने गुस्से में इस्तीफा दे दिया जो मंजूर भी हो गया।

1 thought on “विदाई संभाषण पाठ के प्रश्न उत्तर | विदाई संभाषण पाठ का सारांश”

  1. Pingback: अपू के ढाई साल के प्रश्न उत्तर | dhai saal path ka saransh

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *