hinditoper.com

hinditoper.com
शतरंज के खिलाड़ी

शतरंज के खिलाड़ी वस्तुनिष्ठ प्रश्न और उत्तर, उद्देश्य, सारांश | शतरंज के खिलाड़ी PDF

“शतरंज के खिलाड़ी पाठ मुंशी प्रेमचंद द्वारा लिखा गया” एक साहित्यिक रत्न है जो गहरे शतरंज के खेल की दुनिया में घुसपैठ करता है। मुंशी प्रेमचंद, एक प्रमुख भारतीय लेखक, ने इस कहानी को बड़ी ही सुंदरता से पिरोया है, जो केवल मनोरंजन ही नहीं प्रदान करती है, बल्कि शतरंज के खेल से जुड़ी गहरी जानकारी भी प्रदान करती है।

मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय

मूल नाम – धनपत राय

जन्म- सन् 1880, लमही गाँव (उ.प्र.) – मृत्यु- सन् 1936

प्रमुख रचनाएँ- सेवासदन, प्रेमाश्रम, रंगभूमि, निर्मला, कायाकल्प, गबन, कर्मभूमि, गोदान (उपन्यास); सोजे वतन, मानसरोवर- आठ खंड में, गुप्त धन (कहानी संग्रह); कर्बला, संग्राम, प्रेम की देवी (नाटक); कुछ विचार,
विविध प्रसंग (निबंध-संग्रह)

हिंदी साहित्य के अद्वितीय कवि/लेखक मुंशी प्रेमचंद जी का जन्म 31 जुलाई 1880 में लम्ही गांव (वाराणसी) में हुआ। मुंशी प्रेमचंद जी की काव्य भाषा खड़ी बोली है। मुंशी प्रेमचंद जी ने अपनी काव्य रचनाओं में हिंदी भाषा के साथ साथ उर्दू और फारसी शब्दों को भी स्थान दिया है। मुंशी प्रेमचंद जी की काव्य रचनाएं हिंदी साहित्य की अनमोल धरोहर है, मुंशी प्रेमचंद जी की रचनाएं हमें सदैव सदमार्ग पर चलने की प्रेरणा देती रहेंगी।

शतरंज के खिलाड़ी वस्तुनिष्ठ प्रश्न और उत्तर

1. शतरंज के खिलाड़ी किसकी रचना है?

– मुंशी प्रेमचंद

2. शतरंज के खिलाड़ी कब लिखी गई?

– 1924

3. शतरंज के खिलाड़ी किस प्रकार की विधा है?

– कहानी

4. शतरंज के खिलाड़ी कहानी में किस शहर का चित्रण है?

– लखनऊ

5. शतरंज का खेल उस समय की किस प्रवत्ति को व्यक्त करता है?

– उच्च वर्ग की विलासिता

6. प्रेमचंद जी का जन्म स्थान है?

– लम्ही, वाराणसी

7. मुंशी प्रेमचंद जी का जन्म कब हुआ था?

– 31 जुलाई, 1880

8. मुंशी प्रेमचंद जी की मृत्यु कब हुई थी?

– 8 अक्टूबर, 1936

9. मुंशी प्रेमचंद जी की मृत्यु कहा हुई?

– वाराणसी

10. मुंशी प्रेमचंद जी की कहानियों का क्या उद्देश्य है?

– नारी व पिछड़े वर्गों की उन्नति

11. मुंशी प्रेमचंद किस पत्रिका के संपादक थे?

– हंस

12. शतरंज के खिलाड़ी कहानी में किन लोगों पर विशेष ध्यान दिया गया है?

– मिर्जा सज्जाद अली, मीर रोशन अली, नवाब अली

13. शतरंज का खेल किनके बीच होता था?

– मीर रोशन अली और मिर्जा सज्जाद अली

14. मीर रोशन अली और मिर्जा सज्जाद अली दोनो ही क्या थे?

– खानदानी जमींदार

15. शतरंज के बाज़ी कहा बिछती थी?

– मिर्जा सज्जाद अली के यहां

16. कलम का सिपाही किसे कहा गया है?

– मुंशी प्रेमचंद जी को

17. मुंशी प्रेमचंद जी का बचपन का नाम क्या था?

– धनपत राय

18. जब मुंशी प्रेमचंद अपनी रचना को उर्दू में लिखते थे तब उन्हे किस नाम से जाना जाता था?

– नवाबराय

19. उपन्यास सम्राट कौन है?

– मुंशी प्रेमचंद जी

20. कहानी सम्राट कौन है?

– मुंशी प्रेमचंद जी

21. शतरंज के खिलाड़ी कहानी में इतिहास के किस दौर का वर्णन मिलता है?

– 1857 की क्रांति के पूर्व

22. लखनऊ में किसका शासन हुआ करता था?

– नवाब वाजिद अली शाह

23. इस कहानी में किन दो व्यक्तियों के बारे में बताया गया है?

– मीर रोशन अली और मिर्जा सज्जाद अली

24. मीर और मिर्जा का पूरा नाम क्या था?

– मीर रोशन अली और मिर्जा सज्जाद अली

25. मीर और मिर्जा क्या थे?

– नवाब वाजिद अली शाह के जागीरदार थे

26. मिर्जा सज्जाद अली के अनुसार शतरंज का खेल खेलने से क्या होता है?

– दिमाग तेज होता है

27. शतरंज के खिलाड़ी कहानी में शतरंज के अलावा किस खेल का वर्णन किया गया है?

– ताश और गंजीफा

28. मीर और मिर्जा को धन कमाने की चिंता क्यों नही थी?

– क्योंकि दोनों ही खानदानी जमींदार थे

29. नौकर चाकर ने शतरंज के खेल को क्या बताया था?

– बड़ा ही मनहूस खेल है, घर को तबाह कर देता है

30. मीर साहब के घर कौन आया था की जिससे वे डर गए थे?

– बादशाही फौज के अफसर के आने पर

31. मिर्जा के बेगम के सर में दर्द होने पर भी वह क्यों नही गए?

– क्युकी वह खेल जीतने ही वाले थे

32. बादशाही फौज का अफसर क्यों आया था?

– फौज में भर्ती करने के लिए

33. व्यवधान से बचने के लिए शतरंज का खेल कहा होने लगा?

– गौमती नदी के पास वाले खंडहर में

34. कहानी में राजा और प्रजा की स्थिति कैसी बताई गई है?

– विलासिता में डूबी हुई

35. मीर और मिर्जा की चरित्र की क्या विशेषताएं थी?

– दोनों ही डरपोक, विलासी और झूठी शान वाला

36. फौज का अफसर किसकी पहचान का था?

– मीर की बेगम की पहचान का

37. कहानी के शुरुआत में शतरंज की बाजी कहा बिछती थी?

– मिर्जा के घर

38. मिर्जा के घर के बाद बाजी कहा बिछने लगी?

– मीर के घर

39. मीर के घर के बाद बाजी कहा बिछने लगी?

– गौमती नदी के पास वाले खंडहर में

40. मीर के घर बाजी बिछने पर कौन डर गया?

– मीर की बेगम

41. मीर की बेगम क्यों डर गई?

– क्युकी वह उसके आशिक से नही मिल सकती थी

42. मीर की बेगम का आशिक कौन था?

– बादशाही फौज का अफसर

43. मीर और मिर्जा को किसका शौक था?

– शतरंज का

44. मीर और मिर्जा के आपस में क्या संबंध थे?

– दोनों की शाही जमींदार होने के साथ साथ गहरे मित्र भी थे

45. शतरंज के खेल में किसने चाल को इधर उधर कर दिया था?

– मीर रोशन अली ने

46. मुंशी प्रेमचंद जी की काव्य भाषा क्या है?

– खड़ी बोली

47. मुंशी प्रेमचंद जी की कुल कितनी रचनाएं हैं?

– 300 से ज़्यादा कहानियां, 3 नाटक, 15 उपन्यास, 10 अनुवाद, 7 बाल-पुस्तकें लिखीं।

शतरंज के खिलाड़ी कहानी का सारांश

प्रेमचंद ने ‘शतरंज के खिलाड़ी’ के आरम्भ में ही स्पष्ट कर कर दिया है कि चारों तरफ विलासिता का वातावरण था। क्या राजा क्या प्रजा सभी विलासिता युक्त जीवन शैली के रंग में रंगे हुए थे। छोटे-बड़े, गरीब-अमीर सभी विलासिता में डूबे हुए थे। कोई नृत्य और गान की मजलिस सजाता थ, तो कोई अफीम की पीनक में ही मजे लेता था।

शतरंज के खिलाड़ी कहानी का उद्देश्य

प्रेमचंद की कहानी ‘शतरंज के खिलाड़ी’ में 1857 के संग्राम से पूर्व की अवध की स्थिति का चित्रण किया गया है। प्रेमचंद ने इस कहानी में उस समय के सामंती समाज की पतनशीलता को आधार बनाया है और दो विशिष्ट चरित्रों मीर और मिरज़ा के माध्यम से उच्च सामंतीवर्ग की विलासिता को अभिव्यक्ति दी है ।

प्रश्नों के उत्तर (FAQs)

शतरंज के खिलाड़ी का उद्देश्य क्या है?

प्रेमचंद की कहानी ‘शतरंज के खिलाड़ी’ में 1857 के संग्राम से पूर्व की अवध की स्थिति का चित्रण किया गया है। प्रेमचंद ने इस कहानी में उस समय के सामंती समाज की पतनशीलता को आधार बनाया है और दो विशिष्ट चरित्रों मीर और मिरज़ा के माध्यम से उच्च सामंतीवर्ग की विलासिता को अभिव्यक्ति दी है ।

शतरंज के खिलाड़ी कहानी का सारांश लिखिए

प्रेमचंद ने ‘शतरंज के खिलाड़ी’ के आरम्भ में ही स्पष्ट कर कर दिया है कि चारों तरफ विलासिता का वातावरण था। क्या राजा क्या प्रजा सभी विलासिता युक्त जीवन शैली के रंग में रंगे हुए थे। छोटे-बड़े, गरीब-अमीर सभी विलासिता में डूबे हुए थे। कोई नृत्य और गान की मजलिस सजाता थ, तो कोई अफीम की पीनक में ही मजे लेता था ।

शतरंज के खिलाड़ी का मुख्य पात्र कौन है?

मीर रोशन अली, मिर्जा सज्जाद अली, नवाब वाजिद अली शाह

शतरंज के खिलाड़ी की भाषा कौन सी है?

शतरंज के खिलाड़ी हिंदी भाषा में ही लिखी है। इस पर फिल्म भी बन चुकी है।

शतरंज के खिलाड़ी किसकी कहानी है?

शतरंज के खिलाड़ी मुंशी प्रेमचंद जी के द्वारा लिखी गई है।

2 thoughts on “शतरंज के खिलाड़ी वस्तुनिष्ठ प्रश्न और उत्तर, उद्देश्य, सारांश | शतरंज के खिलाड़ी PDF”

  1. Pingback: मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय और उनकी रचनाएँ

  2. Pingback: अपू के साथ ढाई साल पाठ के प्रश्न उत्तर | path ka saransh

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *