hinditoper.com

hinditoper.com
हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय

हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय PDF | हजारी प्रसाद द्विवेदी का साहित्यिक परिचय एवं रचनाएँ

हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय

जन्म – हजारी प्रसाद द्विवेदी का जन्म श्रावण शुक्ल एकादशी को 19 अगस्त 1907 ई को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के ‘आरत दुबे का छपरा’ नामक गांव में हुआ।

मृत्यु – 19 मई 1979 को ब्रेन ट्यूमर से दिल्ली में निधन हो गया।

प्रमुख रचनाएं – हजारी प्रसाद द्विवेदी की प्रमुख रचनाएं बाणभट्ट की आत्मकथा, अशोक के फूल, कबीर, सूरसाहित्य, कुटज, पृथ्वीराजरासो आदि।

भाषा –

भाषा – हजारी प्रसाद द्विवेदी जी ने अपनी रचनाओं के अनुसार भाषा का प्रयोग किया है। उनकी भाषा के तीन रूप दिखाई देते हैं, तत्सम प्रधान, सरल, तद्भव प्रधान और उर्दू, अंग्रेजी शब्द का प्रयोग उन्होंने अपनी भाषा में किया है।

शैली

शैली – हजारी प्रसाद द्विवेदी ने अपनी काव्य रचना में अनेक प्रकार की शैलियों का प्रयोग किया है।

वर्णनात्मक शैली – द्विवेदी जी ने विषय को सरस बनाने के लिए इस शैली का प्रयोग किया इसमें भाषा सरल तथा प्रभाव पूर्ण हो जाती है।

सूत्रात्मक शैली – कथन में विलक्षणता और चमत्कार को लाने के लिए इस शैली को अपनाया गया जैसे – सारा संसार स्वार्थ का अखाड़ा है।

व्यंग्यात्मक शैली – आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी मीठी चुटकियां लेने में बड़े कुशल थे इसीलिए उन्होंने इस शैली का प्रयोग किसी बात को सीधा ना कह कर व्यंग्य के माध्यम से कहाँ है।

साहित्य में स्थान

साहित्य में स्थान – हजारी प्रसाद द्विवेदी जी उच्च कोटि के अनुसंधाता, विचारक, आलोचक और निबंधकार थे। हजारी प्रसाद द्विवेदी का गद्य साहित्य में महत्वपूर्ण स्थान है। हजारी प्रसाद द्विवेदी के साहित्य में पांडित्य की तुलना में बौधगम्यता अधिक मिलती है। हिंदी साहित्य को समृद्ध बनाने के साथ-साथ व्यवहारिक भी बनाया।हजारी प्रसाद द्विवेदी जी की साहित्य सेवाओं के लिए हिंदी साहित्य हमेशा ऋणी रहेगा।

हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय FAQ’s

हजारी प्रसाद द्विवेदी का मूल नाम क्या था?

हजारी प्रसाद द्विवेदी के बचपन का नाम वैद्यनाथ द्विवेदी था।

हजारी प्रसाद द्विवेदी की प्रमुख रचना कौन सी है?

हजारी प्रसाद द्विवेदी की प्रमुख रचनाएं बाणभट्ट की आत्मकथा, अशोक के फूल, कबीर, सूरसाहित्य, कुटज, पृथ्वीराजरासो आदि।

हजारी प्रसाद द्विवेदी द्वारा लिखित निबंध कौन सा है?

अचारी प्रसाद द्विवेदी द्वारा लिखित निबंध संग्रह – अशोक के फूल, कल्पलता, विचार और वितर्क, कुटज, विचार-प्रवाह, आलोक पर्व, प्राचीन भारत के कलात्मक विनोद आदि है।

आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी का मृत्यु कब हुई थी?

आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदीकी मृत्यु 19 मई सन 1979 को ब्रेन ट्यूमर से दिल्ली में हुई।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *