hinditoper.com

hinditoper.com
12th ke baad kya kare biology students

12th ke baad kya kare biology students medical व nonmedical courses all information in Hindi

यदि आप बायोलॉजी के विद्यार्थी है ,और आप सोच रहे है ,12th ke baad kya kare biology students तो आपके पास कई विकल्प है ! आप 12th बाद कई सरे कोर्सेज कर सकते है ! हम इस लेख में आपको ऐसे कई सारे करियर ऑप्शन के बारे में बतायेगे अगर अपने 12th बायोलॉजी सब्जेक्ट से की है तो आप दो तरह के करियर ऑप्शन चुन सकते हो !

पहला After 12th medical courses व दूसरा After 12th non-medical courses बायोलॉजी स्टूडेंट के पास मेडिकल courses के आलवा और भी कई करियर ऑप्शन होते है ! बायोलॉजी एक रोचक और प्रभावी विषय है, और जब आप 12वीं कक्षा को पूरा कर लेते हैं, तो यह आपके लिए अनेक विभिन्न करियर विकल्प प्रदान कर सकता है। इस आर्टिकल में हम सभी करियर विकल्प के बारे में बतायेगे !

After 12th medical courses

1. MBBS (Bachelor of Medicine, Bachelor of Surgery)

2. Nursing (B.Sc. Nursing)

3. BAMS (Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery)

4. BDS (Bachelor of Dental Surgery)

5. Pharmacy (Diploma or Bachelor’s Degree)

6. Veterinary Science

7. BHMS (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery)

यह सब मेडिकल कोर्सेज करके आप अच्छी जॉब व अच्छा भविस्य बना सकते है और सोच रहे है, 12th ke baad kya kare biology स्टूडेंट्स तो यह सब मेडिकल कोर्सेज कर सकते है ! इन सब कोर्स को करने के लिए आपको हार्डवर्क, डिटर्मिनेशन और धैर्य के साथ पड़े करनी होगी ! यह सब कोर्स आपके लिए एक मेहतर करियर विकल्प बन सकते है !

इन सभी कोर्स को करने में आपकी फीस ज्यादा लग सकती है। इन कोर्स को करने के लिए आपका बजट अधिक होना आवश्यक है, लेकिन बाद में यही कोर्स आप को अधिक से अधिक पैसा कमाने में आपकी मदद करते हैं। इन courses के माध्यम से आप ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

1. MBBS (Bachelor of Medicine, Bachelor of Surgery)

(MBBS) का मतलब होता है “बैचलर ऑफ़ मेडिसिन और बैचलर ऑफ़ सर्जरी”। यह भारत में चिकित्सा के क्षेत्र में सबसे पसंदीदा एवं प्रमुख पदवी है। सभी मेडिकल छात्रों का सपना होता है कि वह एमबीबीएस डॉक्टर बने एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए छात्रों को मेडिकल कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करना होता है।

एमबीबीएस में प्रवेश लेने के लिए आप 12th के बाद इसके लिए मेडिकल कॉलेज में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं। एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए आपको Entrence Exam NEET (National Eligibility cum Entrance Test) देना होता है। इसके माध्यम से आपको एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन दिया जाता है। NEET Exam करने के बाद ही आप एमबीबीएस डॉक्टर के लिए कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं। एमबीबीएस कोर्स 5.5 वर्ष का ग्रैजुएट कोर्स होता है, जिसमें चिकित्सा और सर्जरी के कई पहलुओं पर आपको ज्ञान प्रदान किया जाता है।

अगर आपको Entrence Exam NEET में अच्छे नंबर प्राप्त होते हैं या अच्छी रैंकिंग लगती है तथा आपको गवर्नमेंट कॉलेज मिलता है तो वहां पर आपकी फीस कम लगती है। अगर आपको Entrence Exam NEET में कम नंबर है तथा आपको प्राइवेट कॉलेज या प्राइवेट यूनिवर्सिटी से यह कोर्स करना पड़ता है तो आपको ऐसी स्थिति में ज्यादा फीस देनी होगी।

इस प्रकार आप एमबीबीएस बनने की प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं तथा अगर हम सैलरी की बात करें तो आप फ्रेशर है ! तो आपको 4 से 6 lakh पर मंथ तक सैलरी मिल सकती है और जैसे ही आप एक एक्सपीरियंस डॉक्टर बन जाते हैं तब आपकी सैलरी दो से तीन लाख पर day भी हो सकती है।

2. Nursing (B.Sc. Nursing)

यह कोर्स महिला और पुरुष दोनों कर सकते हैं। तेजी से हेल्थ के प्रति लोगों की अवेयरनेस बढ़ती जा रही है और आए दिन नई नई बीमारियों से हमें गुजरना पड़ रहा है। जिससे health workers की डिमांड ही बढ़ा दी है। ऐसे में सिर्फ डॉक्टर ही नहीं बल्कि नर्सिंग स्टाफ की भी उतनी ही रिक्वायरमेंट बढ़ रही है। इसलिए मेडिकल कोर्स करने वालों की संख्या बढ़ रही है

बीएससी नर्सिंग 4 साल का अंडर ग्रैजुएट कोर्स है जिसे करने के लिए 12th बोर्ड से पास तथा सब्जेक्ट (PCB) फिजिक्स, केमिस्ट्री ,बायो होना आवश्यक है। बीएससी नर्सिंग में एडमिशन के लिए आपकी age लगभग 17 वर्ष होना आवश्यक है। नर्सिंग के कई करियर विकल्प होते हैं। छात्र सरकारी अस्पतालों, निजी अस्पतालों, नर्सिंग होम, मातृस्थान, स्कूलों, कम्युनिटी सेंटर, फैमिली हेल्थ सेंटर, फार्मा कंपनियों, विश्वविद्यालयों, और अन्य स्वास्थ्य संबंधित संस्थानों में नर्स के रूप में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

Nursing (B.Sc. Nursing) के लिए मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए Entrence Exams –

  1. AIIMS नर्सिंग परीक्षा (AIIMS Nursing Exam): AIIMS (All India Institute of Medical Sciences) द्वारा आयोजित की जाने वाली यह परीक्षा नर्सिंग के स्नातक (बीएससी नर्सिंग) और सामान्य प्रशिक्षण के लिए प्रवेश प्रदान करती है।
  2. JIPMER नर्सिंग परीक्षा: JIPMER (Jawaharlal Institute of Postgraduate Medical Education & Research) द्वारा आयोजित की जाने वाली यह परीक्षा नर्सिंग के स्नातक (बीएससी नर्सिंग) प्रवेश के लिए होती है।
  3. राष्ट्रीय बीएससी नर्सिंग परीक्षा (National B.Sc. Nursing Exam): राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली यह परीक्षा भारतीय नर्सिंग परिषद (Indian Nursing Council) में मान्यता प्राप्त नर्सिंग कॉलेजों में नर्सिंग के स्नातक (बीएससी नर्सिंग) के लिए आवेदनकर्ताओं का चयन करती है।

Top 10 government Nursing Colleges in India

  1. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), नई दिल्ली
  2. एससीएमएच (S.C.B. Medical College), कटक
  3. जिप्मर (JIPMER), पुडुचेरी
  4. लोकमान्या तिलक मेडिकल कॉलेज (LTMMC), मुंबई
  5. ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई
  6. कोलकाता मेडिकल कॉलेज, कोलकाता
  7. सफदरजंग राष्ट्रीय अस्पताल (Safdarjung Hospital), नई दिल्ली
  8. मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज, दिल्ली
  9. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU), लखनऊ
  10. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU), अलीगढ़

3. BAMS (Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery)

बीएएमएस (आयुर्वेदिक चिकित्सा और सर्जरी की स्नातक) एक महत्वपूर्ण कोर्स है जो छात्रों को आयुर्वेदिक चिकित्सा में विशेषज्ञता प्रदान करता है। यह एक मान्यता प्राप्त डिग्री है और आयुर्वेदिक चिकित्सा क्षेत्र में विभिन्न करियर अवसर प्रदान कर सकती है।बीएएमएस (आयुर्वेदिक चिकित्सा और सर्जरी की स्नातक) आयुर्वेदिक चिकित्सा का एक प्रमुख स्नातक कोर्स हैयह कोर्स आयुर्वेदिक चिकित्सा और शल्य चिकित्सा के विभिन्न पहलुओं में विशेषज्ञता प्रदान करता है।

बीएएमएस कोर्स के पाठ्यक्रम में आयुर्वेदिक दवाओं, पौष्टिक आहार, जीवनशैली परामर्श, योग और प्राकृतिक उपचार के सिद्धांतों पर भी जोर दिया जाता है। छात्रों को आयुर्वेदिक चिकित्सा के विभिन्न दिलचस्प विषयों, जैसे कि जीर्ण रोग, मनोरोग, पांचकर्म, संग्रहणी, स्वस्थवृत्त, रोग निदान और उपचार, आयुर्वेदिक विज्ञानों के साथ महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक प्रचारों का अध्ययन कराया जाता है।

बीएएमएस कोर्स के लिए आपको मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12th बोर्ड पास होना चाहिए तथा आपकी उम्र 17 वर्ष होना चाहिए। यहां कोर्स 5.5 वर्षों का होता है जिसमें 1 साल की इंटर्नशिप भी कराई जाती है। इस कोर्स को महिला एवं पुरुष दोनों ही कर सकते हैं।

बीएएमएस (आयुर्वेदिक चिकित्सा और सर्जरी की स्नातक) के लिए कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाएं होती हैं।

  1. नेशनल एलिजिबिलिटी कमन एंट्रेंस टेस्ट (NEET): इस परीक्षा को संघीय रूप से आयोजित किया जाता है और यह भारत में मेडिकल कोर्स के लिए प्रवेश के लिए एक मान्य परीक्षा है। बीएएमएस के लिए भी NEET के माध्यम से प्रवेश होता है।
  2. आयुष नेशनल एंट्रेंस टेस्ट (AYUSH NET): यह परीक्षा आयुर्वेदिक, योग, नेत्र रोग, होम्योपैथी, नाटुरोपैथी और यूनानी चिकित्सा के लिए एक प्रवेश परीक्षा है। बीएएमएस में प्रवेश के लिए भी आयुष नेशनल एंट्रेंस टेस्ट दिया जा सकता है।
  3. विभिन्न राज्य स्तरीय परीक्षाएं: अन्य राज्यों में भी बीएएमएस के लिए विशेष प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। यह परीक्षाएं राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जाती हैं और इनके माध्यम से आप अपने राज्य के आयुर्वेदिक कॉलेज में प्रवेश पा सकते हैं।

बीएएमएस कोर्स को पूरा करने के बाद, छात्र विभिन्न सरकारी और निजी अस्पतालों में नियुक्ति प्राप्त कर सकते हैं, स्वयं का आयुर्वेदिक चिकित्सा केंद्र स्थापित कर सकते हैं या अपना चिकित्सा-प्रशिक्षण संस्थान चला सकते हैं।

4. BDS (Bachelor of Dental Surgery)

BDS (Bachelor of Dental Surgery) एक डेंटल सर्जरी कोर्स है ! इस कोर्स को करके दातों के डॉक्टर बनते हैं। इस कोर्स में विद्यार्थियों को डेंटल एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, पैथोलॉजी, डेंटल मैटेरियल्स, डेंटल सर्जरी, डेंटल मेडिसिन, पेरियोडॉन्टिक्स, एन्डोडॉन्टिक्स, ऑर्थोडॉन्टिक्स, और ओरल मेडिसिन जैसे विषयों का गहरा अध्ययन कराया जाता है।

BDS (Bachelor of Dental Surgery) कोर्स 5 वर्षों का होता है तथा इसमें 4 वर्ष की स्टडी होती है तथा 1 वर्ष की इंटर्नशिप होती है। इसके लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12th बोर्ड पास होना आवश्यक है! तो इसमें आपके पास (PCM) फिजिक्स ,केमिस्ट्री, बायो ENGLISH के साथ होना भी आवश्यक है तथा इसके लिए आपकी उम्र 17 वर्ष होना आवश्यक है।

BDS कोर्स में प्रवेश प्राप्त करने के लिए Entrence Exam देना होती है। एग्जाम पास करने के बाद ही आपको इंडिया के टॉप मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मिलता है। NEET में उत्तीर्ण होने के बाद, प्रतिनिधित्वक काउंसलिंग और मेरिट के आधार पर BDS में प्रवेश के लिए चयन होता है। BDS कोर्स प्राइवेट कॉलेजों से भी किया जा सकता है।लेकिन इनकी फीस सालाना 8 से 15 लाख तक हो सकती है।

5. Pharmacy (Diploma or Bachelor’s Degree)

फार्मेसी एक मेडिकल साइंस है जिसका मुख्य उद्देश्य दवाओं की उत्पादन, बिक्री, वितरण, और उनकी सही उपयोग की सुरक्षा सुनिश्चित करना होता है। यह एक व्यापक और वैज्ञानिक विषय है जो औषधीय पदार्थों के बारे में ज्ञान और उनके सेवन के साथ-साथ रोगों के उपचार के लिए स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

12th बाद आप यह कोर्स कर सकते हैं। फार्मेसी शिक्षा को प्रशिक्षण या बैचलर्स डिग्री के रूप में प्राप्त किया जा सकता है। डिप्लोमा कोर्स (D pharmacy) अधिकांशतः 2 वर्षों का होता है जबकि बैचलर्स डिग्री कोर्स (B pharmacy) 4 वर्षों का होता है। इसके लिए आपकी उम्र 17 वर्ष होना आवश्यक है।

फार्मेसी विद्यार्थियों को नैदानिक स्किल्स, औषधीय रसायन, दवा उत्पादन, औषधीय भौतिकी, रोग विज्ञान, औषधीय सांख्यिकी, मानकीकरण और गुणवत्ता नियंत्रण, औषधीय विज्ञान, औषधीय प्रबंधन, औषधीय वितरण, रेसेप्ट, औषधीय संघ, और रोगी संवेदनशीलता के बारे में ज्ञान प्राप्त करते हैं।

फार्मेसी शिक्षा के बाद, विद्यार्थी अस्पतालों, स्वयं का मेडिकल, दवा कंपनियों, औषधीय उत्पादन कारख़ानों, विश्वविद्यालयों, स्वास्थ्य संगठनों, और शोध संगठनों में रोजगार पाने की संभावना होती हैं।

6. Veterinary Science

वेटरिनरी विज्ञान जानवरों के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा संबंधी एक महत्वपूर्ण विज्ञान है। इस विज्ञान का उद्देश्य पशुओं के रोगों की पहचान करना एवं उनके इलाज का समाधान ढूंढना है। अगर आप भी जानवरों से प्यार करते हैं तथा आपकी जानवरों में रुचि है तो आप भी इस वेटरनरी कोर्स को कर सकते हैं।

वेटरिनरी डॉक्टर पशुओं के रोगों की पहचान करते हैं और उनके उपचार की योजना बनाते हैं। वे पशुओं की स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का समाधान ढूंढ़ते हैं और उन्हें उपचारित करते हैं। यहां तक कि पशुओं के ऑपरेशन भी वेटरिनरी डॉक्टर द्वारा किए जाते हैं।

वेटरिनरी डॉक्टर बनने के लिए आपको माध्यमिक शिक्षा यानी 10 कक्षा को उतरी न करना होगा। उसके बाद आपको 12th पूरा करना होगा। यानी माध्यमिक शिक्षा के बाद आपको इंटरमीडिएट12th बोर्ड पास होना आवश्यक है। 12th में आपके पास (pcb) रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, जीव विज्ञान होना भी आवश्यक है।

Exam – भारतीय वेटरिनरी विज्ञान संस्थान (Indian Veterinary Science Institutes) द्वारा आयोजित राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा (AIPVT) देनी होगी। इस परीक्षा के आधार पर आप वेटरिनरी डॉक्टरी के कोर्स में प्रवेश पा सकते हैं।

प्रवेश परीक्षा के बाद आपको बीएससी कोर्स बैचलर ऑफ वेटरिनरी साइंस में दाखिला मिल जाता है। यह कोर्स आमतौर पर 5 वर्ष का होता है, जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप कराई जाती है। इसमें पशुओं के स्वास्थ्य चिकित्सा, सर्जरी, विज्ञान और अन्य रोगों संबंधी विषयों पर अध्ययन कराया जाता है। इसके लिए आपकी उम्र 17 वर्ष होना आवश्यक है।

  • अनुभव प्राप्त करें – कोर्स के दौरान, अपने शिक्षण कार्यक्रम के हिसाब से अनुभव प्राप्त करें। इसके लिए, आप वेटरिनरी अस्पतालों, जनसंपर्क केंद्रों या विश्वविद्यालयों में इंटर्नशिप या प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग ले सकते हैं।
  • राज्य पंजीकरण प्राप्त करें – वेटरिनरी डॉक्टर बनने के लिए, आपको अपने राज्य के वेटरिनरी परिषद या संघ के नियमों के अनुसार पंजीकृत होना होगा।
  • उन्नति करें – वेटरिनरी डॉक्टर के रूप में अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए, आप अधिक अध्ययन करके मास्टर डिग्री या फिर डॉक्टरेट (Ph.D.) कर सकते हैं। इससे आपके ज्ञान और विशेषज्ञता का स्तर बढ़ेगा और आप उच्चतर स्तर के नौकरी और अनुसंधान के अवसर प्राप्त कर सकेंगे।

7. BHMS (Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery)

भूतपूर्व औषधि चिकित्सा और सर्जरी जिसे आमतौर पर हम बीएचएमएस (BHMS) के रूप में जानते हैं। यहां एक स्नातक कोर्स है जो होम्योपैथिक चिकित्सा में विशेषज्ञता प्राप्त करवाता है। यहां डिग्री विभिन्न चिकित्सा कॉलेजों और संस्थानों में प्रदान की जाती है और भारत में होम्योपैथिक चिकित्सा के क्षेत्र में व्यापक रूप से इसे मान्यता प्राप्त है। भूतपूर्व औषधि चिकित्सा विज्ञान में चिकित्सा पद्धति प्राकृतिक औषधियों का प्रयोग करके रोगों के निदान और उपचार करने का प्रयास करती है

  • पात्रता मानदंड – BHMS कोर्स के लिए पात्रता मानदंडों का पालन करें। आमतौर पर, इस कोर्स के लिए आपको 12वीं कक्षा की परीक्षा के साथ विज्ञान (Physics, Chemistry, Biology) विषय में कम से कम 50% अंक प्राप्त करने होंगे। इसके लिए आपकी उम्र 17 वर्ष होना आवश्यक है।
  • प्रवेश प्रक्रिया – भूतपूर्व औषधि चिकित्सा कोर्स में प्रवेश के लिए आपको राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली एमएचसीईई (NEET) परीक्षा में उत्तीर्ण होना होगा। इस परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के बाद, आप कॉलेज और संस्थानों के द्वारा आयोजित की जाने वाली काउंसलिंग प्रक्रिया में भाग लेंगे। आपको अपनी प्राथमिकता के अनुसार कॉलेज चुनने का मौका मिलेगा।
  • कोर्स की अवधि – BHMS कोर्स की अवधि आमतौर पर 5.5 वर्ष होती है, जिसमें 1 साल का अनुवादन अवधि और 1 वर्ष का इंटर्नशिप शामिल होता है। आपको इस समयावधि के दौरान विभिन्न विषयों में ज्ञान प्राप्त कराया जाएगा, जैसे कि होम्योपैथिक औषधियाँ, प्राकृतिक चिकित्सा के सिद्धांत, मनोविज्ञान, रोग विज्ञान, एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, जनसंपर्क और रोगी की संवेदनशीलता।
  • करियर संभावनाएं – BHMS कोर्स पूरा करने के बाद, आप वैधता प्राप्त करेंगे और पंजीकृत भूतपूर्व औषधि चिकित्सक के रूप में काम कर सकेंगे। आप अपना चिकित्सालय खोल सकते हैं, सरकारी या निजी अस्पतालों में रोगियों की देखभाल कर सकते हैं, और अपनी समुदाय में स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कर सकते हैं।

12th ke baad kya kare biology students | After 12th non-medical courses

अगर आपने 12th में बायोलॉजी subject लिया है या लेने वाले हैं क्या आप 12th बायोलॉजी से करने के बाद यह सोच रहे हैं कि आपको अब डॉक्टर नहीं बनना है। आपको किसी और field में जाना है तो आप जा सकते हैं। 12th बायोलॉजी से करने के बाद आप यह न सोचे कि बस आप डॉक्टर ही ही बन सकते हैं।

12th ke baad kya kare biology students

After 12th non-medical courses

  1. MPPSC (Madhya Pradesh Public Service Commission)
  2. UPSC “यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन”
  3. Banking courses
  4. Become a Lawyer
  5. Defense Jobs

1. MPPSC (Madhya Pradesh Public Service Commission)

MPPSC (Madhya Pradesh Public Service Commission) मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग का पूरा नाम है। यह मध्य प्रदेश राज्य में सरकारी पदों की भर्ती और प्रशासनिक सेवाओं का आयोजन करने के लिए जिम्मेदार है।

एमपीपीएससी (MPPSC) के लिए आपके पास 12th में कोई सा भी subject हो सकता है। आप यह बायोलॉजी, आर्ट, कॉमर्स, सभी विषयों के बाद कर सकते हैं। इस परीक्षा के लिए आपके पास ग्रेजुएशन होना आवश्यक है। ग्रेजुएशन के बाद ही आप एमपीपीएससी की परीक्षाओं में बैठ सकते हैं।

MPPSC के द्वारा विभिन्न पदों की भर्ती परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। इसमें समीक्षा अधिकारी (Review Officer), विकासदल अधिकारी (Development Team Officer), पुलिस उपनिरीक्षक (Sub-Inspector of Police), राजस्व निरीक्षक(Revenue Inspector), सहायक नगर निरीक्षक (Assistant City Inspector), नगर आपूर्ति अधिका(City Supply Officer), वन संरक्षक(Conservator of Forests), शिक्षक(Teacher), जिला शिक्षा अधिकारी(District Education Officer)और अन्य पद शामिल हो सकते हैं।

2. UPSC “यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन”

यह परीक्षा देश के विभिन्न श्रेणियों में लोगों को लोक सेवा के क्षेत्र में पद प्रदान करती है। इस परीक्षा को यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (UPSC) द्वारा आयोजित कराया जाता है जो भारतीय संविधान के अनुसार संघ सार्वजनिक सेवा आयोग के रूप में जानी जाती है।

आप 12th बाद बायोलॉजी सब्जेक्ट के साथ जिसमें आपके पास पीसीबी (PCB) फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी सब्जेक्ट होते हैं। आप सभी विषय से यूपीएससी एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं। आप यूपीएससी एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी भी विषय से ग्रेजुएशन करना होगा। आप ग्रेजुएशन के बाद ही यूपीएससी में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं।

3.Banking courses

यदि आप अपने 12वीं कक्षा में बायोलॉजी विषय चुना है तथा आप बैंकिंग संबंधित नौकरियों की तलाश में है। आपके पास कुछ विकल्प हैं जिनको करके आप बैंकिंग क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं। बैंकिंग नौकरियों के लिए 12वीं कक्षा में किसी विशेष विषय का चयन करने की आवश्यकता नहीं होती है। आप किसी भी विषय में बैंकिंग नौकरियों की तैयारियां कर सकते हैं। इसमें मुख्यता आपकी क्षमताओं, संख्यात्मक क्षमता, अंग्रेजी भाषा का ज्ञान और सामान्य ज्ञान महत्वपूर्ण होता है। 12th ke baad kya kare biology students आपके लिए यह बैंकिंग सेक्टर में भी नौकरियां उपलब्ध है। आप बैंकिंग सेक्टर में भी अपना केरियर बना सकते हैं।

बैंकिंग सेक्टर में उपलब्ध banking jobs की एक सामान्य सूची-

  1. बैंक पीओ (Probationary Officer)
  2. बैंक क्लर्क (Bank Clerk)
  3. बैंक सहायक (Bank Assistant)
  4. बैंक मैनेजर (Bank Manager)
  5. कार्यालय सहायक (Office Assistant) – ग्रामीण बैंकों में
  6. लोन ऑफिसर (Loan Officer)
  7. खजानेवाला (Treasurer)
  8. क्रेडिट ऑफिसर (Credit Officer)
  9. आईटी ऑफिसर (IT Officer) – बैंकों में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में

  • बैंक पीओ (Probationary Officer) – आप बैंक पीओ के पद के लिए भी तैयारी कर सकते हैं। इसमें आपको बैंक के विभिन्न विभागों में कार्य करने का मौका मिलेगा।
  • बैंक क्लर्क (Bank Clerk) आप बैंक क्लर्क के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसमें आपको बैंक के कार्यालय के कार्यों को संचालित करने में मदद करनी होगी।
  • बैंक सहायक (Bank Assistant) आप बैंक सहायक के पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसमें आपको ग्राहकों को सहायता और सुविधाएं प्रदान करनी होंगी।
  • बैंक मैनेजर (Bank Manager) जब आप अपनी करियर में आगे बढ़ेंगे, तो आप बैंक मैनेजर के पद के लिए भी पात्र हो सकते हैं। इसमें आपको बैंक के कार्यों का प्रशासनिक प्रबंधन करना होगा।
  • कार्यालय सहायक (Office Assistant) बैंकिंग में सहायक कार्यों का आदान-प्रदान करता है और सामान्य कार्यों में मदद करता है।
  • लोन ऑफिसर (Loan Officer) बैंक में ऋण और क्रेडिट प्रक्रियाओं के लिए जिम्मेदार होता है। इसका कार्य ऋण के आवेदनों की प्रक्रिया, ऋण की मान्यता का निर्धारण, वित्तीय विश्लेषण, ग्राहक संपर्क और ऋण के बारे में सलाह देना होता है।
  • खजानेवाला (Treasurer) यदि आपके पास वित्तीय अभिरक्षण और लेखा प्रबंधन की क्षमता है, तो आप बैंकों में खजानेवाला बन सकते हैं।
  • क्रेडिट ऑफिसर (Credit Officer) बैंक में ऋण वितरण और क्रेडिट प्रबंधन के लिए जिम्मेदार होता है। इसका कार्य ऋण की मान्यता, ऋण के लिए आवेदनों की प्रक्रिया, ऋण की पर्याप्तता का मूल्यांकन करना, वित्तीय विश्लेषण करना, ग्राहक संपर्क करना और क्रेडिट पॉलिसी के तहत आवश्यक निर्णय लेना होता है।
  • आईटी ऑफिसर (IT Officer) बैंकों में टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में कार्यरत होता है। इसका कार्य बैंक की आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर की संचालन, सुरक्षा, सॉफ्टवेयर विकास, नेटवर्क प्रबंधन, डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेशन, वेब डेवलपमेंट, और दूसरे टेक्निकल कार्यों का संचालन करना होता है।

4. Become a Lawyer

12वीं कक्षा में जब आपने बायोलॉजी सब्जेक्ट से पढ़ाई पूरी की है और आप वकील बनना चाहते हैं तो आप वकील बन सकते हैं। इसके लिए आपको एलएलबी (बैचलर ऑफ लॉ) की डिग्री प्राप्त करनी होगी। इसके लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एलएलबी कोर्स को करने के लिए एडमिशन लेना होगा। इसके लिए आपको 12वीं के परीक्षा परिणाम के आधार पर आप को प्रवेश दिया जाएगा।

यदि आप उच्चतम न्यायिक सेवा में शामिल होना चाहते हो तो आपको संघीय न्यायिक सेवा Federal Judicial Service (Judicial Service) की परीक्षा की तैयारी करनी होगी। इसके लिए आपको संघीय न्यायिक सेवा के परीक्षा प्रक्रिया को समझना होगा। इसके लिए आपको तैयारी करनी होगी।

एलएलबी पूरा करने के बाद आपको वकील के रूप में कार्य करने के लिए वकीलीकृत कार्यालय में परीक्षण लेना होगा जिससे आपको अनुभव प्राप्त होगा और आपकी वकील करियर की शुरुआत होगी।

5.Defence Jobs

जैसे ही आपकी हायर एजुकेशन कंप्लीट होती है और आप 12th बोर्ड पास कर लेते हैं। तब सभी यही सोचते हैं कि 12th ke baad kya kare biology students. लेकिन वह मेडिकल कोर्सेज के अलावा अन्य केरियर विकल्प भी चुन सकते हैं। अगर आप डिफेंस में भी जाना चाहते हैं तो बायोलॉजी स्टूडेंट के लिए डिफेंस में भी अनेक कैरियर विकल्प हैं।

12वीं कक्षा (biology) सब्जेक्ट से करने के बाद अगर आप डिफेंस में भाग लेना चाहते हैं तो आपके लिए कई ऐसे केरियर विकल्प है जिन्हें आप चयन कर सकते हैं।

  • पहला भारतीय सेना (Indian Army) भारतीय सेना में अनेक पदों के लिए आप तैयारी कर सकते हैं जैसे कि एक सिपाही, सेना ऑफिसर, डॉक्टर, नर्स और अन्य मेडिकल पदों के लिए भी आप तैयारी कर सकते हैं।
  • भारतीय नौसेना (Indian Navy) भारतीय नौसेना में भी बायोलॉजी के आधार पर आपन अनेक पदों के लिए तैयारी कर सकते हैं जैसे कि सेल्समैन टेक्नीशियन, जीवविज्ञान अधिकारी, और अन्य मेडिकल पदों के लिए इसमें भर्तियां ली जाती है।
  • भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) भारतीय वायु सेना में भी आप बायोलॉजी सब्जेक्ट के आधार पर अलग-अलग पदों के लिए तैयारी कर सकते हैं जैसे कि एयर क्राफ्ट टेक्नीशियन, वेटरिनरी ऑफीसर, फ्लाइट नर्स और अन्य से मेडिकल पद होते हैं जिनके लिए आप तैयारी कर सकते हो।
  • रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट आगंतुक DRDO में भी आप बायोलॉजी सब्जेक्ट के आधार पर विभिन्न पदों के लिए तैयारी कर सकते हो। जैसे की जीवविज्ञानी, मेडिकल अधिकारी और अन्य इससे संबंधित पदों के लिए आप तैयारी कर सकते हो।

5 thoughts on “12th ke baad kya kare biology students medical व nonmedical courses all information in Hindi”

  1. Pingback: IPS Kaise bane | आईपीएस बनने के लिए कौन सी बुक पढ़े

  2. Pingback: Bachelor of Laws (LLB) full information in Hindi 2023

  3. Pingback: Bachelor of Arts in Hindi | B.A. full information 2023

  4. Pingback: NEET 2024 Exam | Date,(परीक्षा) पैटर्न, Syllabus 2024

  5. Pingback: C++ programming language in Hindi | विशेषताएं, इतिहास

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *