hinditoper.com

hinditoper.com
c++ programming language में function

c++ programming language में function क्या है, प्रमुख विशेषताएं, create कैसे करे ?

function क्या है? function किसे कहते है?

सरल भाषा में कहा जाए तो :-
‘group of code’ को function कहते हैं,जिसे program में बनाकर और उसे कॉल कर आसानी से उपयोग में लाया जा सकता है।

function मुख्य रूप से कितने प्रकार के होते हैं?

c++ programming language में function मुख्य रूप से 2 प्रकार के होते है।

1.built-in-function
2.user define-function

  1. built-in-function : ये वे फंक्शन होते है जो कि किसी भी programming language की header file में predefine रहते है। ये आपको उस header file की लाइब्रेरी प्रोवाइड कराती है।
    इस फंक्शन का यूज करने के लिए आपको code लिखने की आवश्यकता नही होती है।
    built-in-function को library function भी कहा जाता है।
    उदाहरण:- printf(),scanf(),getch(),clrscr() आदि।
  2. user define function : ये वे function होते हैं जो प्रोग्रामर या यूजर अपनी सहायता के लिये बनता है। इन function को यूजर अपनी इच्छानुसार किसी भी प्रकार का नाम दे सकता है यूजर या प्रोग्रामर अपनी आवश्यकतानुसार कितने भी फंक्शन बना सकता है।
    उदाहरण :- main(),add(),sub() आदि।

function की प्रमुख विशेषताएं

c++ programming language में function प्रमुख विशेषताएं निम्न है

  1. function का इस्तेमाल कर प्रोग्राम को छोटा बनाया जा सकता है। यह इसकी प्रमुख विशेषता है।
  2. function ‘group of code’ होता है। यूजर अपनी सहायता के लिए एक या एक से अधिक user define function बना सकता है।
  3. function का इस्तेमाल कर प्रोग्राम को समझने योग्य बनाया जाता है जिससे प्रोग्राम लंबा नहीं होता है और अन्य प्रोग्रामर द्वारा आसानी से समझा जा सकता है।
  4. function का उपयोग कर प्रोग्राम में errors का पता आसानी से लगाया जा सकता है।
  5. function का उपयोग कर प्रोग्रामर अपने समय को बचा सकता है।

main function क्या है?

main function भी एक user define function है, क्योंकि यह यूजर निर्णय लेता है की main function का return type क्या रखना है और उसके code में क्या लिखना है। main function किसी भी प्रोग्राम का starting point होता है अर्थात् प्रोग्राम को जब run किया जाता है तो compiler द्वारा सबसे पहले main function को ढूंढा जाता है फिर आगे के code को process करता है।

जब यूजर प्रोग्राम बनाता है तो main function का प्रयोग करना आवश्यक होता है main function को sub program भी कहा जाता है। कई बार main function में ही पूरे कोड को लिखा जाता है।

c++ programming language में function को create कैसे करे?

  1. function declaration
  2. function defination

इन 2 steps के बारे में पूरी जानकारी लेते है :

  1. function declaration

जब c++ programming language में function को create करते है तो सबसे पहले फंक्शन को declare किया जाता है। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में फंक्शन का डिक्लेरेशन compiler को कुछ बेसिक जानकारी प्रदान करता है। जैसे:-
Return type :- function का return type कैसा होगा अर्थात् वहा कैसी वैल्यू को रिटर्न करेगा

function name :- function को किस नाम से कॉल किया जाएगा

parameter :- function में किस प्रकार के पैरामीटर और कितने पैरामीटर उपयोग किए जायेंगे

इस सामान्य जानकारी को compiler function को कॉल और execute करने के लिए करता है

c++ programming language में function को किस प्रकार से declare किया जाता है उसका syntax नीचे दिया गया है :

Syntax –

return_type function_name(parameter 1, parameter 2, parameter 3,………);

  1. function defination

function defination को किस प्रकार प्रोग्राम में लिखा जाता है syntax से समझते है

Syntax –

return_type function_name(parameter 1, parameter 2, parameter 3,……)
{
// code ;
}

c++ programming language में function

प्रश्नों के उत्तर (FAQs)

क्या मैं सी++ प्रोग्राम में कितने फ़ंक्शन्स परिभाषित कर सकता हूँ?

सी++ प्रोग्राम में फ़ंक्शन्स की संख्या कोई सख्त सीमा नहीं है। हालांकि, कोड की पठनीयता और व्यवस्था की रखरखाव की महत्वपूर्णता है। संबंधित फ़ंक्शन्स को समूहित करें और अत्यधिक विच्छेदन से बचें।

क्या मैं एक फ़ंक्शन को दूसरे फ़ंक्शन से कॉल कर सकता हूँ?

बिल्कुल! सी++ प्रोग्रामिंग भाषा में फ़ंक्शन्स दूसरे फ़ंक्शन्स को कॉल कर सकते हैं। यह अवधारणा फ़ंक्शन नेस्टिंग के रूप में जानी जाती है। इससे आप कठिन कार्यों को छोटे उपकारों में विभाजित करके कोड की पठनीयता और व्यवस्था में सुधार कर सकते हैं।

5 thoughts on “c++ programming language में function क्या है, प्रमुख विशेषताएं, create कैसे करे ?”

  1. Pingback: Preface to the Mahabharat written by C. Rajagopalachari

  2. Pingback: HPCL Engineer Recruitment 2023 | HPCL इंजीनियर भर्ती

  3. Pingback: CSS की मदद से html में background color in html code

  4. Pingback: Id selector और class selector in Hindi | Id और Classमें अंतर

  5. Pingback: html programming language क्या है ? html full form ,विशेषताए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *