hinditoper.com

hinditoper.com
नेताजी का चश्मा पाठ

Class 10th नेताजी का चश्मा पाठ के प्रश्न उत्तर PDF | नेताजी का चश्मा पाठ का सारांश

नेताजी का चश्मा पाठ

चारों ओर सीमाओं से घिरे भूभाग का नाम ही देश नहीं होता। देश बनता है उसमें रहने वाले सभी नागरिकों, नदियों, पहाड़ों, पेड़-पौधों, वनस्पतियों, पशु-पक्षियों से और इन सबसे प्रेम करने तथा इनकी समृद्धि के लिए प्रयास करने का नाम देशभक्ति है।

नेताजी का चश्मा कहानी कैप्टन चश्मे वाले के माध्यम से देश के करोड़ों नागरिकों के योगदान को रेखांकित करती है जो इस देश के निर्माण में अपने-अपने तरीके से सहयोग करते हैं। कहानी यह कहती है कि बड़े ही नहीं बच्चे भी इसमें शामिल हैं।

स्वयं प्रकाश जी का जीवन परिचय

आठवें दशक में उभरे स्वयं प्रकाश आज समकालीन कहानी के महत्त्वपूर्ण हस्ताक्षर हैं। उनके तेरह कहानी संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं जिनमें सूरज कब निकलेगा, आएँगे अच्छे दिन भी आदमी जात का आदमी और संधान उल्लेखनीय हैं। उनके बीच में विनय और ईंधन उपन्यास चर्चित रहे हैं। उन्हें पहल सम्मान, बनमाली पुरस्कार, राजस्थान साहित्य अकादेमी पुरस्कार आदि पुरस्कारों से पुरस्कृत किया जा चुका है।

मध्यवर्गीय जीवन के कुशल चितेरे स्वयं प्रकाश की कहानियों में वर्ग- शोषण के विरुद्ध चेतना है तो हमारे सामाजिक जीवन में जाति, संप्रदाय और लिंग के आधार पर हो रहे भेदभाव के खिलाफ़ प्रतिकार का स्वर भी है। रोचक किस्सागोई शैली में लिखी गई उनकी कहानियाँ हिंदी की वाचिक परंपरा को समृद्ध करती हैं।

नेताजी का चश्मा पाठ के प्रश्न उत्तर

1. नेताजी का चश्मा किस विधा में लिखा गया है?

कहानी

2. नेताजी का चश्मा कहानी के लेखक कौन है?

स्वयं प्रकाश जी

3. स्वयं प्रकाश जी का जन्म कब हुआ?

सन् 1947 में

4. स्वयं प्रकाश जी का जन्म कहा हुआ?

इंदौर, मध्यप्रदेश

5. स्वयं प्रकाश जी के जीवन का बड़ा हिस्सा कहा बीता?

राजस्थान में

6. हालदार साहब कितने दिनों के अंतराल में कंपनी के काम से जाना रहता था?

15 दिनों के अंतराल में

7.स्वयं प्रकाश जी ने किस विषय की पढ़ाई की थी?

मैकेनिकल इंजीनियरिंग की

8. स्वयं प्रकाश जी वर्तमान में कहा रहते है?

भोपाल में

9. स्वयं प्रकाश जी किस पत्रिका के संपादन से जुड़े है?

वसुधा

10. स्वयं प्रकाश जी के कितने कहानी संग्रह प्रकाशित हो चुके है?

13

11. सूरज कब निकलेगा कहानी के रचना कार कौन है?

स्वयं प्रकाश जी

12. स्वयं प्रकाश जी को किन किन सम्मानों से सम्मानित किया गया है?

पहल सम्मान, बनमाली सम्मान और राजस्थान साहित्य अकादमी पुरस्कार

13. स्वयं प्रकाश जी की कौनसी शैली है?

रोचक किस्सागोई

14. स्वयं प्रकाश जी की रचनाओं में किसका स्वर है?

वर्ग शोषण और जाति, संप्रदाय तथा लिंग के आधार पर भेदभाव

15. स्वयं प्रकाश के किन्ही दो उपन्यास के नाम लिखे?

बीच में विनय और ईंधन

16. कस्बे में कितने बाजार थे?

एक

17. कस्बे में कितने स्कूल थे?

दो, एक लड़कों का और एक लड़कियों का

18. कस्बे में किसका कारखाना था?

सीमेंट का

19. कस्बे में कितने सिनेमाघर थे?

दो

20. नगरपालिका ने कस्बे में क्या क्या काम करवाए थे?

सड़क बनवाई, पेशाबघर बनवाए, कबूतरों की छतरी बनवाई और कभी कभी कवि सम्मेलन करवा दिए

21. कस्बे के चौराहे पर किसकी मूर्ति थी?

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की

22. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की मूर्ति किसकी बनी हुई थी?

संगमरमर की

23. नेताजी का चश्मा कहानी किसके बारे में है?

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के बारे में

24. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा किसने बनाई थी?

मास्टर मोतीलाल जी ने

25. मोतीलाल जी कौन थे?

हाई स्कूल के ड्राइंग मास्टर

26. मास्टर मोतीलाल जी ने नेताजी की प्रतिमा कितने दिनों में बनाने का विश्वास दिलाया?

1 महीने का

27. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा कितनी ऊंची थी?

लगभग 2 फुट की

28. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा कैसी लग रही थी?

सुंदर, आकर्षक और मासूम

29. नेताजी की मूर्ति को देख कर क्या याद आता था?

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के नारे

30. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के कौन कौन से नारे थे?

दिल्ली चलो और तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा

31. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा पर चश्मा संगमरमर का था?

नहीं, संगमरमर का नही था

32. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा पर किस चीज का चश्मा लगा था?

सचमुच का काली फ्रेम वाला

33. हालदार साहब कस्बे में क्यों रुके?

पान खाने

34. हालदार साहब पहली बार कस्बे से गुजरे तो उन्होंने क्या देखा?

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा

35. हालदार साहब को मूर्ति में क्या दिखा?

मूर्ति पत्थर की लेकिन चश्मा रियल

36. जीप में भी हालदार साहब क्या सोचते रहे?

नेताजी की मूर्ति के बारे में

37. हालदार साहब के अनुसार आजकल मज़ाक की चीज क्या हो रही है?

देश भक्ति

38. हालदार साहब दूसरी बार कस्बे से गुजरे तो उन्हे क्या दिखा?

मूर्ति पर लगा दूसरा चश्मा

39. पहली बार मूर्ति पर कौन सा चश्मा था?

मोटे फ्रेम वाला कला चश्मा

40. दूसरी बार मूर्ति पर कौन सा चश्मा था?

तार के फ्रेम वाला गोल चश्मा

41. हालदार को किसकी आदत बन गई?

चौराहे पर रुकना, पान खाना और मूर्ति को ध्यान से देखना

42. मूर्ति पर लगे चश्मे के बदले का कारण हालदार साहब ने किससे पूछा?

पान वाले भैया से

43. पान वाले ने क्या खाया था?

पान

44. पान वाला कैसा आदमी था?

काला मोटा और खुशमिजाज आदमी

45. पान वाले ने पान कहा थूका?

पीछे घूमकर दुकान के नीचे

46. पान वाले के दांत कैसे थे?

लाल काले

47. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की मूर्ति पर लगा चश्मा कौन बदलता है?

कैप्टन

48. मूर्ति पर लगा चश्मा कैप्टन बदलता है यह हालदार साहब को किसने बताया?

पान वाले ने

49. किसको नेताजी की बगैर चश्मे वाली मूर्ति बेकार लगती है?

कैप्टन को

50. बिना चश्मे के नेताजी कैप्टन को कैसे लगते थे?

लगता था जैसे की नेताजी को असुविधा हो रही हो

51. नेताजी की मूर्ति पर लगा चश्मा कैप्टन कैसे निकलता?

नेताजी से क्षमा मांगकर

52. किसके कहने पर नेताजी की मूर्ति पर लगा चश्मा कैप्टन निकलता?

गिराक (ग्राहक) के कहने पर

53. किस समय पान की दुकान पर भिड़ नही होती थी?

दोपहर के समय

54. हालदार साहब ने पान वाले से क्या प्रश्न किया?

नेताजी का ओरिजिनल चश्मा कहां गया?

55. प्रश्न का जवाब पान वाले ने क्या दिया?

मास्टर बनाना भूल गया

56. मूर्ति के नीचे क्या लिखा था?

मूर्तिकार मास्टर मोतीलाल

57. हालदार साहब ने पान वाले से और क्या क्या पूछा?

क्या कैप्टन नेताजी का साथी है? या आज़ाद हिन्द फौज का भूतपूर्व सिपाही?

58. पान वाले के मुंह से पान कितनी दूरी पर था?

ढेड़ इंच दूर

59. कैप्टन चश्मेवाला का शरीर कैसा था?

वह एक पाव से अपंग था

60. हालदार साहब को क्या अच्छा नही लगा?

एक देश भक्त का मजाक उड़ाना

61. कैप्टन का मजाक कौन उड़ा रहा था?

पान वाला

62. कैप्टन के सर पर कैसी टोपी थी?

गांधी टोपी

63. कैप्टन की आंखो पर किस रंग का चश्मा था?

काले रंग का

64. कैप्टन के हाथों में क्या था?

एक हाथ में संदूकची और दूसरे हाथ में बांस पर टांगे बहुत से चश्मे

65. हालदार साहब कितने साल तक कस्बे से गुजरते रहे?

2 साल तक

66. कैप्टन अपना बांस पर रखे चश्मे कहा टीका रहा रहा था?

बंद दुकान के सहारे

67. नेताजी की मूर्ति पर किस किस प्रकार के चश्मे लग रहे थे?

काले, लाल, गोल फ्रेम वाले, चौकोर, धूप वाला चश्मा, बड़े कांच वाला चश्मा आदि

68. कैप्टन मर गया, हालदार साहब को किसने बताया?

पान वाले ने

69. कैप्टन मर गया हालदार साहब को कैसे मालूम पड़ा?

नेताजी की मूर्ति पर कोई चश्मा नहीं था

70. नेताजी का चश्मा पाठ के अंत मैं हालदार साहब ने क्या देखा?

नेताजी पर वापस चश्मा लगा था

71. आखिर में नेताजी की मूर्ति पर कैसा चश्मा था?

सरकंडे वाला

72. अंत में हालदार साहब को क्या हुआ?

हालदार साहब भावुक हो गए और आंखे भर आई

नेताजी का चश्मा पाठ का सारांश

नेताजी का चश्मा कहानी द्वारा समाज में देश प्रेम की भावना को जागृत किया गया है। पाठ का नायक ‘कैप्टन’ साधारण व्यक्ति होने के बावजूद भी एक देशभक्त नागरिक है। वह कभी नेताजी को बिना चश्मे के नहीं रहने देता है। इस कहानी द्वारा लेखक चाहता है कि देशवासी लोगों की कुर्बानियों को न भूलें और उन्हें उचित सम्मान दें।

प्रश्नों के उत्तर (FAQs)

कैप्टन क्या था?

एक महान देशभक्त।

नेताजी का चश्मा पाठ का नायक कौन था?

नेताजी का चश्मा पाठ का नायक कैप्टन था।

नेताजी का चश्मा पाठ से क्या शिक्षा मिलती है?

देश के महान पुरुषों के प्रति आदर और सम्मान की भावना।

नेताजी का चश्मा पाठ की विधा है?

नेताजी का चश्मा पाठ की विधा कहानी है।

नेताजी का चश्मा पाठ के रचयिता कौन है?

नेताजी का चश्मा पाठ के रचयिता स्वयं प्रकाश जी है।

नेताजी का चश्मा पाठ में किसकी मूर्ति थी?

नेताजी का चश्मा पाठ में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की मूर्ति थी।

2 thoughts on “Class 10th नेताजी का चश्मा पाठ के प्रश्न उत्तर PDF | नेताजी का चश्मा पाठ का सारांश”

  1. Pingback: भक्तिन पाठ के प्रश्न उत्तर MCQ | भक्तिन पाठ का सारांश

  2. Pingback: लखनवी अंदाज mcq | लखनवी अंदाज question answer

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *