hinditoper.com

hinditoper.com
html programming language

html programming language क्या है ? html full form, विशेषताएं, संपूर्ण जानकारियां

HTML का विकास 1990 में टिम बर्नर्स-ली द्वारा हुआ था। यह एक मार्कअप भाषा है जिसका उद्देश्य वेब पेजों को संरचित करना है। HTML के विभिन्न संस्करणों का उपयोग वेब पेजों के तरीके से प्रदर्शन को सुधारने के लिए किया गया है।

इस लेख में html programming language क्या है इस html का फुल फॉर्म क्या होता है। html tags क्या होते हैं html tag कितने प्रकार के होते हैं html प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की विशेषताएं क्या क्या है html tags के फुल फॉर्म तथा html से जुड़ी संपूर्ण जानकारियां आपको इस लेख में मिलेगी तो अंत तक इस लेख को जरूर पढ़ें।

html क्या है ? html full form

html :- html का पूरा नाम (full form) hyper text markup language है। यह एक प्रकार की programming language है जिसका इस्तेमाल वेब पेज को बनाने में किया जाता है। यह एक प्रकार की markup language है। html दो शब्दो से मिलकर बना होता है अर्थात् html = ht+ml

ht मतलब hyper text होता है जिसका अर्थ होता है कि किन्ही भी दो पेज को आपस में एक text के माध्यम से जोड़े रखना। अर्थात् html का इस्तेमाल एक वेब पेज को बनाने में किया जाता है और एक से अधिक वेब पेज मिलकर एक वेब साइट बनाती है।

वर्तमान स्थिति में यह html programming language बहुत ही ज्यादा प्रचलन में है क्योंकि सभी कार्य (शासकीय या अशासकीय) ऑनलाइन हो गए है जिससे html के द्वारा वेब साइट को बनाया जाता है। html programming language को सीखना बहुत ही सरल व आसन है और इसे का समय में अधिक सीखा जा सकता है।

html tags क्या है ?

html tags :- html programming language एक markup language है जिससे की इसमें बहुत सारे tags का इस्तेमाल किया जाता है। tags का इस्तेमाल करके ही किसी भी वेब पेज या वेब साइट को बनया जाता है। html programming language में जब किसी tag को लगाया जाता है तो वह एक स्पेशल tag होता है क्योंकि वह tag वही काम करता है जो उस tag के लिए html में पहले से ही predefine है अर्थात् किसी भी tag का अपना एक विशेष महत्व है।

उदाहरण के लिए –

  1. <h1> – heading tag
  2. <p> – paragraph tag
  3. <img> – image tag
  4. <form> – form tag
  5. <table> – table tag

आदि कई प्रकार के tags होते है जिनका इस्तेमाल html programming language में अलग अलग कार्य को करने के लिए किया जाता है। नीचे की ओर कुछ अन्य tag व उनके full form दिए गए हैं।

html tags कितने प्रकार के होते हैं ?

html tags के प्रकार :- html programming language में tag को मुख्य रूप से दो भागो में बांटा गया है –

  1. pair tag ( container tag )
  2. singular tag ( empty tag )

  1. pair tag – pair tag का मतलब यह है की html programming language में वे tag जिनका opening और closing दोनो हो, pair tag या container tag कहलाते है।
    • जैसे – <style> </style>
    • <p> </p>
    • <ol> </ol> आदि कई।
  2. singular tag :- singular tag का मतलब यह है कि html programming language में जिन tag का closing नही होता है केवल opening ही होता है, उन्हें singular tag या empty tag कहा जाता है।
    • जैसे – <img>
    • <br> आदि कई प्रकार से।

html programming language की विशेषताएं

  • html programming language एक सरल pragramming language है।
  • html programming language को कम समय में अधिक सीखा जा सकता है।
  • html programming language को किसी विशेष सॉफ्टवेयर की आवश्यकता नही होती है इसे notepad में आसानी से सीखा जा सकता है।
  • html programming language के source code को किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में रन किया जा सकता है अर्थात् यह एक platform independent language है।
  • html programming language case sensitive programming language नही है अर्थात् इसके source code में tag का जब इस्तेमाल किया जाता है तो उन्हें किसी भी case में ( upper case या lower case ) किसी में भी लिख सकते हैं।
  • html programming language में अलग अलग tags का इस्तेमाल करके प्रोग्राम में आवश्यकता के अनुसार audio, video या image को लगा सकते है।

html tags के full form (पूरा नाम)

html tags तथा उनके पूरे नाम इस प्रकार है –

  • <hlml> – hypertext markup language tag
  • <head> – head tag
  • <title> title tag
  • <body> – body tag
  • <p> – paragraph tag
  • <h1>, <h2>, <h3>, <h4>, <h5>, <h6> – heading tag
  • <br> – break tag
  • <ol> – order list tag
  • <ul> – unorder list tag
  • <dd> – definition declaration tag
  • <b> – bold tag
  • <img> – image tag
  • <table> – table tag
  • <tr> – table row tag
  • <th> – table heading tag
  • <marquee> – marquee tag
  • <u> – underline tag
  • <strong> – strong tag
  • <i> – italic tag
  • <strike> – strike tag
  • <mark> – mark tag
  • <del> – delete tag
  • <ins> – insert tag
  • <pre> – predefine formatting tag
  • <sub> – subscript tag
  • <sup> – superscript tag
  • <hr> – horizontal rule tag
  • <big> – big text tag
  • <small> – small text tag
  • <span> – span tag (use with css)
  • <center> – center tag
  • <blockquote> – blockquote tag
  • <cite> – cite tag (text show like italic)
  • <q> – quote (” “)
  • <em> – emphasized tag (text shown like italic)
  • <div> – division tag
  • <td> – table data tag
  • <a> – anchor tag
  • <from> – form tag
  • <a href> – anchor hyperreference tag
  • <abbr> – abbreviation tag
  • <style> – style tag
  • <frameset> – frameset tag
  • <link> – link tag
  • <input> – input tag
  • <button> – button tag
  • <frame> – frame tag
  • <video> – video tag
  • <audio> – audio tag
  • <time> – time tag

कुछ basic html tags के बारे में जानकारी

  • <html> :- <html> tag का full form hyper text markup language है। यह एक meta tag है। इस tag से ही html program के source code की शुरुआत होती है। यह एक pair tag है। जिसे हम container tag के नाम से भी जानते है। इस tag की opening और closing दोनो होती है।
  • <body> :- <body> tag भी meta tags में से एक है। यह एक container tag है। इस tag के अंदर ही सारे tags का इस्तेमाल किया जाता है। इस tag की opening और closing दोनो होती है। इस tag का उपयोग प्रोग्राम में मुख्य रूप से दूसरे या तीसरे स्थान पर होता है।
  • <head> :- <head> tag भी meta tag है। यह भी एक pair tag है। इस tag का उपयोग html program के source code में मुख्य रूप से दूसरे स्थान पर होता है। इस tag की opening और closing दोनो होती है
  • <title> :- <title> tag का उपयोग <head> के अंदर ही किया जाता है। इस tag के अंदर जो भी कोड लिखा जाता है वह प्रोग्राम के आउटपुट के टॉप पर show होता है। यह भी एक pair tag है।
  • <p> :- <p> इस tag का full form paragraph tag होता है। इसका इस्तेमाल html program में पैराग्राफ को लिखने में किया जाता है।यह एक container tag है अर्थात् इस tag की opening और closing दोनो होती है। इसे हम pair tag भी कह सकते हैं।
  • <h1> :- h1> tag का full form heading tag है।यह भी एक प्रकार का container tag है जिसकी opening और closing दोनो होती है।यह tag 6 प्रकार के होते हैं अर्थात् अलग अलग हेडिंग को देने के लिए अलग अलग tag का इस्तेमाल किया जाता है। बाकी के 5 इस प्रकार है –
    • <h2>
    • <h3>
    • <h4>
    • <h5>
    • <h6>
  • <img> :- <img> tag का full form image tag है। यह एक प्रकार का singular tag या empty tag है। जिसकी opening तोह होती है परंतु closing नही। इस tag की मदद से हम html program में इमेज को लगा सकते है।
  • <table> :- <table> tag का उपयोग html program में टेबल को बनाने में किया जाता है। यह एक प्रकार का pair tag है। जिसके अंदर और tags का उपयोग किया जाता है। जैसे की <td> tag, <tr> tag, <th> tag
  • <ol> :- <ol> tag का full form order list tag है। जिसका इस्तेमाल html program में लिस्ट को numbering में कंटीन्यूटी के लिए किया जाता है।<ol> tag में जरूरी नही है की 1 2 3… ही हो A B C…. या a b c…. भी हो सकता है इसके लिए हमे सिर्फ प्रोग्राम में बुलेट के बदलना पड़ेगा। यह एक pair tag है
  • <br> :- <br> tag का full form breaking tag है। breaking tag का उपयोग html program में लाइन को ब्रेक करने के लिए किया जाता है। जब हम html program में किसी दूसरी लाइन पर जाना चाहते है तो हम <br> tag का उपयोग कर सकते हैं। यह एक प्रकार का singular tag है।

नीचे की ओर एक html programming language का एक सरल प्रोग्राम दिया गया है

html programming language

दिए गए html program का आउटपुट कुछ इस प्रकार दिखाई देगा –

html programming language

प्रश्नों के उत्तर (FAQs)

HTML का इतिहास

HTML का जन्म 1989 में टिम बर्नर्स ली द्वारा हुआ था। वे इसे वेब पेज्स की संरचना बनाने के लिए डिज़ाइन करने के लिए बनाए गए थे।

क्यों HTML सीखें?

HTML सीखने के कई प्रमुख कारण हैं, जैसे कि आप वेब डिज़ाइन में करियर बना सकते हैं और अपनी वेबसाइट को स्वयं संचालित कर सकते हैं।

क्या HTML सीखना मुश्किल है?

HTML सीखना आसान है, खासकर जब आप इसे प्रैक्टिस करते हैं। आप इंटरनेट पर उपयोगी स्रोतों का उपयोग करके इसे सीख सकते हैं।

क्या HTML का उपयोग केवल वेबसाइट डिज़ाइन के लिए होता है?

नहीं, HTML का उपयोग केवल वेबसाइट डिज़ाइन के लिए ही नहीं होता है। यह डेटा भी प्रारूपित करने के लिए उपयोगी है और डेटा प्रसंस्करण में भी मदद कर सकता है।

HTML कैसे सीखें?

HTML सीखने के लिए आप ऑनलाइन ट्यूटरियल्स, किताबें, और कोर्सेस का उपयोग कर सकते हैं। आपको इसे सीखने के लिए कोई पूर्व ज्ञान की आवश्यकता नहीं है।

2 thoughts on “html programming language क्या है ? html full form, विशेषताएं, संपूर्ण जानकारियां”

  1. Pingback: NINCET Exam क्या है | NINCET Syllabus, NIMCET परीक्षा पैटर्न

  2. Pingback: What is LAN in Hindi full explanation |Brief overview of LAN

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *