hinditoper.com

hinditoper.com
key in dbms in hindi

key in dbms in hindi | primary key | super key | candidate key | foreign key

hinditoper.com द्वारा लिखे गए key in dbms in hindi के इस लेख में key किसे कहते हैं? दिया गया है साथ ही साथ key के प्रकारों को भी समझाया गया है –

key in dbms in hindi

key in dbms in hindi – key शब्द का शाब्दिक अर्थ कुंजी या चाबी होता है। जिस प्रकार प्रत्येक ताले lock की एक unique key होती है।

माना यदि हमने dbms में employee का डेटाबेस बनाया है जहां हमने कुछ कॉलम बनाए है जैसे – em_id, em_name, em_aadhar, em_email, em_department तथा जिसमें अलग-अलग रिकॉर्ड निम्न रुप से दिए हैं –

em_idem_nameem_aadharem_emailem_department
001Aayush0101010101aa@gamil.com1
002Aman0202020202am@gamil.com2
003Neha0303030303nn@gamil.com3
004Aman0404040404amn@gamil.com2

इस employee table में एक सिंगल कॉलम द्वारा या दो कॉलम को merge करके किसी भी row के डाटा को एक्सेस किया जा सकता है, जैसे – सिंगल कॉलम : em_id, em_aadhar, em_email, merge column : em_id & em_email, em_aadhar & em_name.

इन कॉलम के माध्यम से हम टेबल में किसी भी employee के सारे दिए गए डाटा के बारे में इन्फॉर्मेशन पता कर सकते है।

सरल शब्दों में कहा जाए तो dbms में key एक attribute या set of attributes होता है जो किसी टेबल में किसी भी row को पहचानने में मदद करता है। Key का उपयोग rdbms के विभिन्न टेबल और कॉलम के बीच रिलेशन को स्थापित करने में किया जाता है।

key का उद्देश्य – purpose of key in dbms in hindi

Key की मदद से किसी भी tuple row के डाटा को एक्सेस किया जा सकता है।

Key की मदद से किसी टेबल में रिलेशनशिप को identify या establish किया जा सकता है।

key के प्रकार – types of key

1. Super key

2. Candidate key

3. Primary key

4. Alternet key

5. Foreign key

6. Composite key

super key in dbms in hindi

super key in dbms in hindi – super key एक प्रकार का possible attributes का कॉम्बिनेशन होता है, जिसकी मदद से किसी भी row या tuple के डाटा को एक्सेस किया जा सकता है। एक रिलेशन में बहुत सी super key हो सकती है। इन्हीं कई super key को super set भी कहा जाता है।

Super key में से ही candidate key और candidate key में से ही primary key बनती है। एक टेबल में 2 power n – 1 super key हो सकती है। किसी टेबल में या रिलेशन में एक attribute की मदद से भी (जिसमे डाटा यूनिक हो) या दो या दो से अधिक कॉलम से मिलकर भी super key बनाई जा सकती है। Super key सिंगल या डबल कॉलम को merge करके किसी भी tuple को यूनिक बनाती है।

key in dbms in hindi

super set : {em_id}, {em_name}, {em_aadhar}, {em_id em_name}, {em_id em_department} etc.

candidate key in dbms in hindi

Candidate key से ही primary key बनती है।

Candidate key में null value नहीं हो सकती है।

key in dbms in hindi

candidate keys : {em_id}, {em_name}, {em_aadhar}

primary key in dbms in hindi

primary key in dbms in hindi – किसी भी डाटा बेस में रिकॉर्ड को या tuple को यूनिकली identify करना होता है तो primary key को बनाया जाता है। primary key किसी भी रिलेशन में एक ही होती है। primary key को कैंडिडेट की में से ही चुना जाता है। प्राइमरी की को चुनने के लिए निम्न बातों के ध्यान में रखा जाना चाहिए –

Primary key में कोई भी null value नहीं होती है।

Primary key, unique होती है, अर्थात टेबल के जिस कॉलम को primary key बनाया जाता है उसमें एक जैसा रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए।

Primary key को बार बार बदलना नही चाहिए, क्योंकि डेटाबेस में updation मुश्किल होता है।

किसी भी रिलेशन में primary key एक ही होती है।

Primary key को पहचानने का तरीका यह होता है कि जिस कॉलम को प्राइमरी बनाया जाता है वह underline होता है।

रिलेशन में primary key बनाते समय उसे assigned कर देना चाहिए।

key in dbms in hindi

primary key : {em_id}

Alternet key in dbms in hindi

Alternet key in dbms in hindi – candidate key में से चुनी गई एक primary key के बाद बची हुई सभी key जो primary key बन सकती थी, उन्हे alternet key कहा जाता है।

key in dbms in hindi

Alternet key : {em_name}, {em_aadhar}

Foreign key in dbms in hindi

Foreign key in dbms in hindi – foreign key को पहचानने के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखा जाता है –

किन्ही भी दो टेबल्स में रिलेशनशिप को बताने के लिए foreign key का उपयोग किया जाता है।

यह जरूरी नहीं होता है की foreign key की वैल्यू unique value हो।

Foreign key की वैल्यू null हो सकती है।

Foreign key अन्य दूसरी टेबल की primary key को refer करती है।

Composite key in dbms in hindi

Composite key in dbms in hindi – किन्ही भी दो कॉलम या attributes से मिलकर बनी key को composite key या compound key कहते है।

key in dbms in hindi

Composite key : {em_id em_name}, {em_name em_department} etc.

FAQ – key in dbms in hindi

Alternet key किसे कहते हैं?

candidate key में से चुनी गई एक primary key के बाद बची हुई सभी key जो primary key बन सकती थी, उन्हे alternet key कहा जाता है।

candidate key किसे कहते हैं?

super key में से चुनी गई एक key है। candidate key को परिभाषित किया जाए तो minimal super key को ही कैंडिडेट की कहते हैं। candidate key में unique column या attributes होते हैं।

key in dbms कितने प्रकार की होती है?

dbms में key – super key, candidate key, primary key, alternet key, composite key, foreign key होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *