hinditoper.com

hinditoper.com
multiplexing in computer network

multiplexing in computer network in hindi | time division multiplexing | frequency division multiplexing | what is multiplexing in hindi

hinditoper.com द्वारा लिखे गए multiplexing in computer network के इस लेख में what is multiplexing in computer network (multiplexing क्या है?) दिया गया है साथ ही साथ multiplexing के प्रकार frequency division multiplexing, wavelength division multiplexing, time division multiplexing in computer network को भी समझाया गया है तथा कुछ FAQ भी दिए गए हैं –

what is multiplexing in computer network in hindi

what is multiplexing in hindi – multiplexing एक ऐसी तकनीक (technique) है, जो मल्टीपल सिग्नल्स को एक सिंगल सिग्नल में या एक सिंगल मीडिया में बदलती है।

अलग अलग सिग्नल्स को अलग अलग ट्रांसमिशन मीडियम के माध्यम से भेजना कठिन और महंगा होता है और अधिक मात्रा में ट्रांसमिशन केबल्स की भी आवश्यकता होती है इसीलिए multiplexing टेक्निक का उपयोग करके ट्रांसमिशन मीडियम में उपयोग होने वाले केबल्स की संख्या को कम किया जा सकता है जिससे ट्रांसमिशन / network के सेटअप की लागत भी कम हो जाती है, और केबल्स भी कम उपयोग की जाती है।

Multiplexing technique में मुख्य रूप से दो डिवाइसेज का उपयोग किया जाता है –

  • Multiplexer
  • De multiplexer

Multiplexer device – multiplexer device कई data signals को एक सिंगल डाटा सिग्नल में या एक सिंगल चैनल में बदलता है। जो एक सिंगल ट्रांसमिशन मीडियम में ट्रांसमिट होते है।

De multiplexer device – de multiplexer device एक डाटा सिग्नल को अलग अलग कर उन्हे पहले वाले फॉर्म में लाता है जिस फॉर्म में वे ट्रांसमिट हुए थे। फिर इन अलग अलग डाटा सिग्नल्स को उन्हें उनके डेस्टिनेशन तक पहुंचा देता है।

types of multiplexing in computer network

Multiplexing technique के दो प्रकार होते है जो निम्न है –

Analog multiplexing के भी दो प्रकार होते है – FDM और WDM

2. Digital multiplexing technique

Digital multiplexing का एक ही प्रकार होता है TDM

frequency division multiplexing in computer network

FD Multiplexing – FDM एक analog multiplexing technique है। FDM का पूरा नाम (full form) frequency division multiplexing है। frequency division multiplexing में इलेक्ट्रिकल सिग्नल्स को ट्रांसमिट किया जाता है।

डाटा के ट्रांसमिशन में frequency division multiplexing का उपयोग तब किया जाता है जब डाटा सिग्नल्स की बैंडविथ, ट्रांसमिशन मीडियम (ट्रांसमिशन केबल्स) की बैंडविथ से कम हो। अर्थात ट्रांसमिशन केबल की bandwidth high हो।

frequency division multiplexing की मदद से एक समय में अधिक से अधिक डाटा सिगनल्स को ट्रांसमिट किया जा सकता है।

multiplexing in computer network

wavelength division multiplexing in computer network

WD Multiplexing – WDM भी एक analog multiplexing technique है। WDM का पूरा नाम wavelength division multiplexing है। wavelength division multiplexing में ऑप्टिकल सिग्नल्स को ट्रांसमिशन मीडियम के प्रकार फाइबर ऑप्टिक केबल के द्वारा ट्रांसमिट किया जाता है।

wavelength division multiplexing में सिग्नल्स अत्यधिक सुरक्षित और तेज स्पीड से साथ ट्रांसमिट होते है। WDM में उपयोग होने वाली फाइबर ऑप्टिक केबल की बैंडविथ बहुत हाई होती है। जिसकी मदद से कम समय में अधिक से अधिक डाटा सिगनल्स को ट्रांसमिट किया जा सकता है।

multiplexing in computer network

time division multiplexing in computer network

TD Multiplexing – TDM एक digital multiplexing technique है। TDM का पूरा नाम time division multiplexing है। time division multiplexing में डाटा सिग्नल्स को frequency में न भेज कर टाइम लिमिट में भेजा जाता है, अर्थात प्रत्येक सिग्नल को एक टाइम लिमिट दी जाती है जिसमे उसे ट्रांसमिट होना रहता है।

time division multiplexing अधिक लोकप्रिय multiplexing तकनीक है, क्योंकि इसमें सभी डाटा सिग्नल्स को समयानुसार ट्रांसमिट किया जाता है। time division multiplexing के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं जो कि निम्न है –

Synchronous time division multiplexing – Synchronous TDM में फ्रेम में उपस्थित slot खाली हो सकते है, अर्थात यदि किसी डिवाइस के पास उस समय ट्रांसमिट करने के लिए कोई सा डाटा सिग्नल नही है तो वह डाटा slot खाली ही आगे की ओर ट्रांसमिट हो जायेगी।

Asynchronous time division multiplexing – Asynchronous TDM में frame में उपस्थित slot खाली नही रहते है अर्थात यदि किसी डिवाइस के पास ट्रांसमिट करने के लिए डाटा सिग्नल नही है तो आगे आने वाले डिवाइस के डाटा सिग्नल के उसकी slot दे दी जाती है। इसमें कोई भी slot empty नही रहता है।

multiplexing in computer network

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *