hinditoper.com

hinditoper.com
Patriotism Beyond Politics and Religion

Patriotism Beyond Politics and Religion

Patriotism Beyond Politics and Religion Introduction

Dr. A. P. J. Abdul Kalam was one of India’s most distinguished scientist, 11th President of India and the recipient of the most prestigious Bharat Ratna, Padma Bhushan and Padma Vibhushan-the country’s three highest civilian honours.

Due to his great contribution in the field of space research and missile development, he came to be known as the ‘Missile Man of India’. In spite of being such an eminent personality, he remained humane and humble throughout his life. Though he came from a poor family, he was a hardworking and dedicated person, with an unquenchable thirst for knowledge and learning.

He believed that every single person he met can help him in learning something new. He narrates in his books, all his stimulating experiences with students, young people, teachers, scientists, politicians, saints and seers. According to an editorial of the prestigious e-newspaper (Patriotism Beyond Politics and Religion).

The Hindu, More than as a scientist and a technocrat, Kalam will be remembered for his tenure as India’s 11th President, when he moved the institution away from being merely formal and ceremonial in nature.

He used the presidency as a platform to inspire youth, who were readily impressed by his earthy demeanour and discursive approach to public speaking.” He was the only President of India who broke the tradition of his position, reached ordinary people, listened to their grievances and won their love and affection.

He always dreamt of making India a developed country. Dr.Kalam used to say that if people will remember him as a good teacher that would be the utmost privilege for him. He had a firm belief in the tremendous potential of the youth of our country.

He aimed at motivating India’s people, especially its youth for the development of our country. According to Dr. Kalam, throughout his career in Science and Technology, he had always counted upon the power and prospects of the youth (Patriotism Beyond Politics and Religion).

In his book Ignited Minds, he wrote, “My strength has been my young teams who never let me down. And what satisfaction there was in working with them on some of the most complex projects in some of the most challenging situations! Given the freedom to achieve and guided properly, I am convinced the young of India can accomplish far more.

” (Ignited Minds, Preface ix-x) In his book Ignited Minds Dr. A.P.J. Abdul Kalam has discussed how the “untapped” potentials of the young people of India can be utilized properly to achieve the goal of making India a fully developed country.

According to him, the young people have developed a subjugated and docile attitude. They very often settle for less than what they deserve. That is why in spite of having skills, resources and talents India is not that much prosperous and developed as it should have been (Patriotism Beyond Politics and Religion).

Through Ignited Minds, Dr.Kalam aimed to motivate the youth to “get back on the winning track and unleash the energy within a nation that hasn’t allowed itself full rein.” In this book he has analyzed various issues that can accelerate the winning streak of today’s youth. Kalam has stressed the importance of a role model in the life of children and youth.

He points out that a person needs different role models in different stages of his life and how role models can help him to achieve success in personal front, professional life as well as in contributing something for our nation.

He also adds how great teachers and scientists can ignite the young minds through their vision for the benefit of our country. Dr. Abdul Kalam always insisted the youth to dream, not only to dream but to dream big. He used to say, ‘Dream, dream, dream’.

Dreams transform into thoughts and thoughts result in action” (Ignited Minds, (1) But he also advised them to strengthen their spiritual wisdom. He believed that upholding the value system is as important as prosperity through wealth generation.

India takes its pride in the slogan Unity in Diversity’. India has diverse geographical locations, regional diversity, cultural diversity, linguistic variations, ethnic diversity and diversity in religion.

Religious diversity is one of the most conspicuous spirits of Indian society. All types of religions of the world are found here like Hinduism, Buddhism, Jainism, Christianity, Zoroastrianism, Islam and Sikhism. But now a-days, politics is overshadowing religious sentiments (Patriotism Beyond Politics and Religion).

Politicians are using religion as a weapon to create a rift between people to secure their seats. But according to Dr. Abdul Kalam, diverse religions add new dimensions to the “Indianness’ (Ignited Minds, 115) of the people. He wrote, “The greatest danger to our sense of unity and our sense of purpose comes from those ideologists who seek to divide the people.

The Indian Constitution bestows on all the citizens total equality under its protective umbrella. What is now cause for concern is the trend toward putting religious form over religious sentiments.” (Ignited Minds, 115) He believed that for India to prosper what we need is just pure patriotism, beyond politics and religion. If all the people of India come together, leaving behind all forms of diversities, to create a harmonious India, that will be our greatest strength.

To make this vision turn into reality, the youth can play a major role. Dr.Kalam had identified five areas where Indian youth can cater essential aptitude and these areas if tackled together can create great opportunities for the development of India.

These five areas are agriculture, power, education and health care, information technology and the strategic sector. Since times immemorial India has always been considered as an agricultural country (Patriotism Beyond Politics and Religion).

Improvements in agricultural sector will ensure higher economic growth. Developments in education and health care will create scope for more and efficient manpower.

The information technology sector is growing with the passing of time and its further growth will accelerate the development process. Electric power yields energy security essential for the growth of all other sectors.

According to Dr.Kalam’s opinion, if something is at risk, then “human mind gets ignited” (Ignited Minds, 177) and the quality of the work gets amplified. He used to advise the youth to remember that challenges guide us to opportunities.

When one picks up a work, he should perform it with complete dedication and diligence, without thinking of what the result would be (Patriotism Beyond Politics and Religion).

If he succeeds in the work, the success should act as an inspiration for future goals and if it fails, then the experience should be taken as a lesson for the next time. Failures should not restrict them from trying; rather they should use them as stepping stones for their success in future endeavors. Hopes and aspirations must remain alive till the last breath as they motivate us to be successful in every sphere.

He wrote in Ignited Minds, “The young especially has to be guided properly, so that their lives find a proper direction and their creativity is allowed to flower.” (Ignited Minds, 178) Kalam concluded the book with an excellent piece of poetry that brilliantly conveys to the young minds the message he wished to impart. It is not only a poem but looks more like a pledge.

It seems as if Kalam, through this poem, wanted the youth of India to take this pledge and work according to it. This poem intends to ignite the young souls of India and motivate them to work towards a greater vision- the vision of making India a developed country. The poem is titled ‘Song of Youth’ (Ignited Minds, 196): “As a young citizen of India, armed with technology, knowledge and love for my nation, I realize, small aim is a crime.

I will work and sweat for a great vision, the vision of transforming India into a developed nation powered by economic strength with value system. I am one of the citizens of a billion, only the vision will ignite the billion souls. It has entered into me, the ignited soul compared to any resource, is the most powerful resource on the earth, above the earth and under the earth.

He visited schools and colleges in different parts of the country to spread the message that the youth should prepare themselves to make India a developed nation. “Ignite your mind and think big” (Ignited Minds, 187) was the message he imparted to the students.

Kalam always considered the interests and needs of the nation greater than that of an individual. He wanted to embed this thought in the minds of the youth of our country.

He wrote “when thousands recite this, I see the developed India” (Ignited Minds, 195). Dr. A.P.J. Abdul Kalam’s book Ignited Minds shows what a true patriot he was and inspires the youth of the country to explore the unexplored paths to convert India into a developed and prosperous nation.

This book shows the reason why A.P.J Abdul Kalam was and will always be the Youth Icon and a role model for large number of young people of our country (Patriotism Beyond Politics and Religion).

Patriotism Beyond Politics and Religion mcq

1. Who said these words ” The people of a nation have the power to realise their dream of a truly good life “?

A.P.J. Abdul Kalam

2. ‘ I dedicate this book to a child who is studying in class 12 ‘ her name is…?

Snehal Thakkar

3. On 11 April 2002 when Dr. Kalam reached by road in the evening, it was under curfew following communal disturbances?

Anand

4. Who was Dr. A.P.J. Abdul Kalam?

11th President of India

5. Which of the following book is not written by Dr. A. P.J. Abdul Kalam?

A House of Mr. Biswas

6. High school, while talking to the students, a At the question came up- Who is our enemy?

Anandalya

7. Dr. Kalam is convinced that this can be achieved in the next 18 years, by…..?

2020

8. …… is the root cause of our problems and should be the object of our fight, not our own?

Poverty

9. Dr. Kalam suggest a list of his priorities increase agricultural production to keep ahead of?

Increasing population

10. Kalam was awarded with nation’s highest award…………….. 1997?

“Bharat Ratna”

11. Kalam said that three factors are invariably found in strong nation. They are?

1. Collective pride in its achievement 2.Unity 3. Ability of combined action

12. What thing did Abdul Kalam use to collect?

Tamarind seeds

13. When was Dr. A.P.J. Abdul Kalam born?

15 October 1931

14. Dr. A.P.J. Abdul Kalam was the…………President of India?

11th

15. Who was one of India’s most distinguished scientist?

Dr. A. P. J. Abdul Kalam

16. What does patriotism beyond politics and religion mean?

It is a call to all Indians to rise to their highest capabilities

17. What is Dr Kalam’s dream for India called?

Abdul kalam Vision India Movement

18. Why is patriotism important in one’s life?

stronger nation

19. What are the three visions of Abdul Kalam?

Freedom, Development and Standing Up

20. What was Kalam’s dream in life?

to become a fighter pilot

21. Who is called missile man of India?

Dr. APJ Abdul Kalam

22. What was Dr. A. P.J. Abdul Kalam?

former president of India

23. Where was Dr. A. P.J. Abdul Kalam born?

in Rameswaram

24. What is the full name of Dr. A.P.J?

Avul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam

Patriotism Beyond Politics and Religion summary in hindi

डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम भारत के सबसे प्रतिष्ठित वैज्ञानिकों में से एक, भारत के 11वें राष्ट्रपति और सबसे प्रतिष्ठित भारत रत्न, पद्म भूषण और पद्म विभूषण-देश के तीन सर्वोच्च नागरिक सम्मान- के प्राप्तकर्ता थे। अंतरिक्ष अनुसंधान और मिसाइल विकास के क्षेत्र में उनके महान योगदान के कारण उन्हें ‘भारत का मिसाइल मैन’ कहा जाने लगा।

इतने प्रतिष्ठित व्यक्तित्व होने के बावजूद वे जीवन भर मानवीय और विनम्र बने रहे। यद्यपि वह एक गरीब परिवार से थे, फिर भी वह एक मेहनती और समर्पित व्यक्ति थे, जिनमें ज्ञान और सीखने की कभी न बुझने वाली प्यास थी। (Patriotism Beyond Politics and Religion summary) उनका मानना ​​था कि उनसे मिलने वाला हर व्यक्ति उन्हें कुछ नया सीखने में मदद कर सकता है। वह अपनी पुस्तकों में छात्रों, युवाओं, शिक्षकों, वैज्ञानिकों, राजनेताओं, संतों और द्रष्टाओं के साथ अपने सभी प्रेरक अनुभवों का वर्णन करते हैं।

प्रतिष्ठित ई-समाचार पत्र द हिंदू के एक संपादकीय के अनुसार, एक वैज्ञानिक और एक टेक्नोक्रेट से अधिक, कलाम को भारत के 11वें राष्ट्रपति के रूप में उनके कार्यकाल के लिए याद किया जाएगा, जब उन्होंने संस्था को केवल औपचारिक और औपचारिक प्रकृति से दूर ले जाया था। उन्होंने राष्ट्रपति पद का उपयोग युवाओं को प्रेरित करने के लिए एक मंच के रूप में किया, जो उनके सांसारिक आचरण और सार्वजनिक बोलने के विचारशील दृष्टिकोण से तुरंत प्रभावित थे।

” वह भारत के एकमात्र राष्ट्रपति थे जिन्होंने अपने पद की परंपरा को तोड़ा, आम लोगों तक पहुंचे, उनकी शिकायतें सुनीं और उनका प्यार और स्नेह जीता। यही कारण है कि उन्हें आम तौर पर जनता के राष्ट्रपति के रूप में जाना जाता है।’ डॉ. अब्दुल कलाम युवाओं के लिए सुलभ रहे।

उन्होंने हमारे देश के युवाओं तक पहुंचने की कोशिश की और उन्हें हमारे देश के जिम्मेदार नागरिक बनने और इसके विकास में कुछ योगदान देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने हमेशा भारत को एक विकसित देश बनाने का सपना देखा। डॉ. कलाम वे कहते थे कि अगर लोग उन्हें एक अच्छे शिक्षक के रूप में याद रखेंगे तो यह उनके लिए सबसे बड़ा सौभाग्य होगा।

उन्हें हमारे देश के युवाओं की जबरदस्त क्षमता पर दृढ़ विश्वास था।(Patriotism Beyond Politics and Religion summary) उनका उद्देश्य भारत के लोगों, विशेषकर युवाओं को इसके लिए प्रेरित करना था। हमारे देश का विकास। डॉ. कलाम के अनुसार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी में अपने करियर के दौरान, उन्होंने हमेशा युवाओं की शक्ति और संभावनाओं पर भरोसा किया था।

अपनी पुस्तक इग्नाइटेड माइंड्स में उन्होंने लिखा, “मेरी ताकत मेरी युवा टीमें रही हैं जो मुझे कभी निराश न कर। और कुछ सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में कुछ सबसे जटिल परियोजनाओं पर उनके साथ काम करने में कितनी संतुष्टि थी! हासिल करने की आजादी और उचित मार्गदर्शन मिलने पर, मुझे विश्वास है कि भारत के युवा कहीं अधिक हासिल कर सकते हैं।

” (इग्नाइटेड माइंड्स, प्रस्तावना ix-x) अपनी पुस्तक इग्नाइटेड माइंड्स में अब्दुल कलाम ने चर्चा की है कि भारत को पूर्ण विकसित देश बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए भारत के युवाओं की “अप्रयुक्त” क्षमताओं का उचित उपयोग कैसे किया जा सकता है। उनके अनुसार, युवाओं में वशीभूत और विनम्र रवैया विकसित हो गया है।

वे अक्सर अपनी योग्यता से कम पर ही समझौता कर लेते हैं। इसीलिए कौशल, संसाधन और प्रतिभा होते हुए भी भारत उतना समृद्ध और विकसित नहीं है जितना होना चाहिए था। इग्नाइटेड माइंड्स के माध्यम से, डॉ. कलाम का उद्देश्य युवाओं को “जीत की राह पर वापस लौटने और एक ऐसे राष्ट्र के भीतर ऊर्जा को उजागर करने के लिए प्रेरित करना था जिसने अभी तक खुद पर पूरी तरह लगाम नहीं लगाई है।” इस पुस्तक में उन्होंने विभिन्न मुद्दों का विश्लेषण किया है जो आज के युवाओं की जीत की लय को तेज कर सकते हैं।

कलाम ने बच्चों और युवाओं के जीवन में एक रोल मॉडल के महत्व पर जोर दिया है।(Patriotism Beyond Politics and Religion summary) वह बताते हैं कि एक व्यक्ति को अपने जीवन के विभिन्न चरणों में अलग-अलग रोल मॉडल की आवश्यकता होती है और कैसे रोल मॉडल उसे व्यक्तिगत मोर्चे, पेशेवर जीवन के साथ-साथ हमारे देश के लिए कुछ योगदान देने में सफलता हासिल करने में मदद कर सकते हैं। वह यह भी कहते हैं कि कैसे महान शिक्षक और वैज्ञानिक हमारे देश के लाभ के लिए अपने दृष्टिकोण के माध्यम से युवा दिमागों को प्रज्वलित कर सकते हैं।

डॉ. अब्दुल कलाम युवाओं को हमेशा सपने देखने के लिए प्रेरित करते थे, न केवल सपने देखने के लिए बल्कि बड़े सपने देखने के लिए भी। वह कहते थे, ‘सपने देखो, सपने देखो, सपने देखो।’ सपने विचारों में बदल जाते हैं और विचार कार्य में परिणत होते हैं” (इग्नाइटेड माइंड्स, (1) लेकिन उन्होंने उन्हें अपने आध्यात्मिक ज्ञान को मजबूत करने की भी सलाह दी। उनका मानना ​​था कि मूल्य प्रणाली को बनाए रखना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि धन सृजन के माध्यम से समृद्धि। भारत को इस पर गर्व है। ‘अनेकता में एकता’ का नारा।

भारत में विविध भौगोलिक स्थान, क्षेत्रीय विविधता, सांस्कृतिक विविधता, भाषाई विविधता, जातीय विविधता और धर्म में विविधता है। धार्मिक विविधता भारतीय समाज की सबसे विशिष्ट आत्माओं में से एक है।(Patriotism Beyond Politics and Religion summary) दुनिया के सभी प्रकार के धर्म पाए जाते हैं यहां हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म, ईसाई धर्म, पारसी धर्म, इस्लाम और सिख धर्म पसंद है।

लेकिन आजकल राजनीति धार्मिक भावनाओं पर भारी पड़ रही है। राजनेता अपनी कुर्सी सुरक्षित करने के लिए लोगों के बीच दरार पैदा करने के लिए धर्म को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन डॉ. .अब्दुल कलाम, विविध धर्म लोगों की “भारतीयता’ (इग्नाइटेड माइंड्स, 115) में नए आयाम जोड़ते हैं। उन्होंने लिखा, “हमारी एकता की भावना और हमारे उद्देश्य की भावना को सबसे बड़ा खतरा उन विचारकों से है जो विभाजित करना चाहते हैं लोग।

यदि भारत के सभी लोग सभी प्रकार की विविधताओं को पीछे छोड़ते हुए एक साथ आएं, एक सामंजस्यपूर्ण भारत का निर्माण करें, यही हमारी सबसे बड़ी ताकत होगी। इस दृष्टिकोण को वास्तविकता में बदलने के लिए, युवा एक प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं।

(Patriotism Beyond Politics and Religion summary) डॉ. कलाम ने पांच क्षेत्रों की पहचान की थी जहां भारतीय युवा कर सकते हैं आवश्यक योग्यता को पूरा करें और यदि इन क्षेत्रों से मिलकर निपटा जाए तो भारत के विकास के लिए महान अवसर पैदा हो सकते हैं। ये पांच क्षेत्र हैं कृषि, बिजली, शिक्षा एवं स्वास्थ्य देखभाल, सूचना प्रौद्योगिकी और रणनीतिक क्षेत्र।

प्राचीन काल से ही भारत को एक कृषि प्रधान देश माना जाता रहा है। कृषि क्षेत्र में सुधार से उच्च आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित होगी। शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल में विकास से अधिक और कुशल जनशक्ति के लिए गुंजाइश बनेगी। सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र समय के साथ बढ़ रहा है और इसके आगे बढ़ने से विकास प्रक्रिया में तेजी आएगी।

विद्युत ऊर्जा अन्य सभी क्षेत्रों के विकास के लिए आवश्यक ऊर्जा सुरक्षा प्रदान करती है। हमारे देश की शक्ति को मजबूत करने के लिए परमाणु, अंतरिक्ष और रक्षा प्रौद्योगिकी जैसे रणनीतिक क्षेत्र में विकास काफी महत्वपूर्ण है। यदि इन पांचों क्षेत्रों का एकीकरण कर विकास किया जाए तो हमारे देश की रीढ़ मजबूत होगी और भारत एक विकसित देश बनने की राह पर आगे बढ़ेगा।

डॉ. कलाम के मत के अनुसार, यदि कोई चीज़ ख़तरे में होती है, तो “मानव मस्तिष्क प्रज्वलित हो जाता है” (इग्नाइटेड माइंड्स, 177) और कार्य की गुणवत्ता बढ़ जाती है। वह युवाओं को यह याद रखने की सलाह देते थे कि चुनौतियाँ हमें अवसरों की ओर ले जाती हैं। जब कोई कोई काम हाथ में लेता है तो उसे पूरी लगन और मेहनत से करना चाहिए, बिना यह सोचे कि इसका परिणाम क्या होगा।

यदि वह कार्य में सफल हो जाता है, तो सफलता को भविष्य के लक्ष्यों के लिए प्रेरणा के रूप में काम करना चाहिए और यदि असफल होता है, तो उस अनुभव को अगली बार के लिए एक सबक के रूप में लेना चाहिए। (Patriotism Beyond Politics and Religion summary) असफलताओं को उन्हें प्रयास करने से नहीं रोकना चाहिए; बल्कि उन्हें इन्हें भविष्य के प्रयासों में सफलता के लिए सीढ़ी के रूप में उपयोग करना चाहिए।

आशाएँ और आकांक्षाएँ अंतिम सांस तक जीवित रहनी चाहिए क्योंकि वे हमें हर क्षेत्र में सफल होने के लिए प्रेरित करती हैं। उन्होंने इग्नाइटेड माइंड्स में लिखा, “युवाओं को विशेष रूप से उचित मार्गदर्शन किया जाना चाहिए, ताकि उनके जीवन को उचित दिशा मिल सके और उनकी रचनात्मकता को खिलने का मौका मिले।” (इग्नाइटेड माइंड्स, 178) कलाम ने कविता के एक उत्कृष्ट अंश के साथ पुस्तक का समापन किया जो शानदार ढंग से युवा दिमागों को वह संदेश देता है जो वह देना चाहते थे।

यह सिर्फ एक कविता ही नहीं बल्कि एक प्रतिज्ञा जैसी लगती है। ऐसा लगता है मानो कलाम इस कविता के माध्यम से चाहते थे कि भारत के युवा यह प्रतिज्ञा लें और उसके अनुसार काम करें। इस कविता का उद्देश्य भारत की युवा आत्माओं को प्रज्वलित करना और उन्हें एक बड़े दृष्टिकोण – भारत को एक विकसित देश बनाने की दृष्टि – की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करना है।

कविता का शीर्षक ‘सॉन्ग ऑफ यूथ’ (इग्नाइटेड माइंड्स, 196) है: “भारत के एक युवा नागरिक के रूप में, प्रौद्योगिकी, ज्ञान और अपने राष्ट्र के प्रति प्रेम से लैस, मुझे एहसास है, छोटा लक्ष्य एक अपराध है। मैं इसके लिए काम करूंगा और पसीना बहाऊंगा।” एक महान दृष्टिकोण, भारत को मूल्य प्रणाली के साथ आर्थिक ताकत से संचालित एक विकसित राष्ट्र में बदलने का दृष्टिकोण। मैं एक अरब लोगों में से एक हूं, केवल यह दृष्टिकोण अरबों आत्माओं को प्रज्वलित करेगा।

(Patriotism Beyond Politics and Religion summary) यह मुझमें प्रवेश कर चुका है, तुलना में प्रज्वलित आत्मा किसी भी संसाधन के लिए, पृथ्वी पर, पृथ्वी के ऊपर और नीचे सबसे शक्तिशाली संसाधन है पृथ्वी। मैं लक्ष्य प्राप्ति के लिए ज्ञान का दीपक जलाता रहूँगा

विज़न-विकसित भारत।” यह “युवाओं का गीत’ दर्शाता है कि कलाम को अपने देश के युवाओं पर कितना गहरा विश्वास था। उनका मानना ​​था कि यह युवा ही हैं जो हमारे देश का भविष्य बदलने और भारत को एक विकसित देश बनाने के उनके सपने को पूरा करने की शक्ति रखते हैं।

उन्होंने लिखा, “जब हजारों लोग इसका पाठ करते हैं, तो मैं विकसित भारत को देखता हूं” (इग्नाइटेड माइंड्स, 195)। डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की पुस्तक इग्नाइटेड माइंड्स दर्शाती है कि वह कितने सच्चे देशभक्त थे और देश के युवाओं को भारत को एक विकसित और समृद्ध राष्ट्र में बदलने के लिए अनछुए रास्ते तलाशने के लिए प्रेरित करती है। यह पुस्तक बताती है कि क्यों ए.पी.जे. अब्दुल कलाम हमारे देश के युवा आइकन और बड़ी संख्या में युवाओं के लिए एक आदर्श थे और हमेशा रहेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *