hinditoper.com

hinditoper.com
What is Routing in Hindi - hinditoper.com

Routing in Hindi | Static routing in Hindi | Dynamic routing in Hindi

Hinditoper.com द्वारा लिखे गए What is Routing in Hindi के इस लेख में रूटिंग किसे कहते है? समझाया गया है। साथ ही साथ Routing के प्रकारों (Types of Routing in Hindi), Difference between Switch and Router in Hindi को भी बताया गया है, जो कि निम्न है –

What is Routing in Hindi

Routing in Hindi – Routing एक प्रकार की प्रक्रिया (process) होती है, जो यहां सुनिश्चित करती है कि नेटवर्क में डाटा पैकेट्स को सोर्स नोड से डेस्टिनेशन नोड तक किस path से भेजा जाए। Routing शब्द route शब्द से आया है। जिसका अर्थ रास्ता होता है, जिसकी सहायता से डाटा पैकेट को भेजा जाता है या ट्रांसफर किया जाता है।

जिस प्रकार हम भी जब सफर के लिए या किसी काम को करने के लिए, जिसके लिए हमें बाहर जाना रहता है। तो हम अलग – अलग रास्तों में से सबसे छोटा तथा उचित रास्ते को डिसाइड करते हैं, जिससे कि हम जल्दी तथा समय पर पहुंच सके।

यह डिसीजन एक नेटवर्क डिवाइस द्वारा लिया जाता है, जिसे राउटर कहते हैं। राउटर एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता है, जिसका मुख्य कार्य किसी भी नेटवर्क में डाटा पैकेट को एक बेस्ट रूट से ट्रांसमिट करना होता है।

Router network device के बारे में अन्य जानकारी निम्न है –

Router network device

Router एक computer network device है। Router network device सामान्यतः OSI model की Physical layer, Data link layer और Network layer पर काम करता है। Router multiport नेटवर्क डिवाइस होता है, Router MAC address के साथ साथ IP address भी चेक कर सकता है।

Router network device, Routing table के द्वारा डाटा परीक्षण लेता है अर्थात टेबल के माध्यम से वह डिसाइड करता है कि डाटा को आगे फॉरवर्ड करना है या नहीं। जब sender द्वारा डाटा पैकेट को send किया जाता है तो Router network device द्वारा उस डाटा को Analyze करके उसे कम ट्रैफिक वाले path से रिसीवर की ओर भेज दिया जाता है।

What is Routing in Hindi

Types of Router network device

1. Wired router network device

2. Wireless router network device

3. VPN router network device (Virtual Private Network)

4. Edge router network device

5. Core router network device

Advantages of Router network device

1. Router network device के द्वारा भिन्न-भिन्न प्रकार के कंप्यूटर नेटवर्क के बीच आसानी से कनेक्शन बनाया जा सकता है।

2. Router network device में यह समझने की योग्यता होती है, कि किस डाटा पैकेट को या मैसेज को आगे भेजना है या नहीं भेजना है।

Disadvantages of Router network device

1. Router network device बहुत ही महंगा नेटवर्क डिवाइस होता है, बाकी अन्य कंप्यूटर नेटवर्क डिवाइसेज से।

2. Router network device को मेंटेन करना बहुत मुश्किल होता है, क्योंकि यदि आपको किसी other city या country में डाटा को ट्रांसफर करना हो तो आपको professional workers की जरूरत पड़ती है।

Types of Routing in Hindi

Routing के मुख्य रूप से तीन प्रकार होते हैं, जो कि निम्न है –

Types of Routing in Hindi

यह सभी कार्य administrator पर निर्भर करता है अर्थात यह सारी उसकी ही जिम्मेदारी होती है कि डाटा पैकेट किस रूट से ट्रांसमिट होंगे। Static routing को non adaptive routing के नाम से भी जाना जाता है।

2. Dynamic Routing in Hindi – डायनेमिक रूटिंग में राउटर अपनी चतुराई का उपयोग करके ही रूट को फॉलो करता है। अर्थात राउटर अलग-अलग path से डाटा पैकेट ट्रांसफर करने के लिए जिम्मेदार रहता है। यदि किसी कारण से निर्धारित किया गए path में गड़बड़ी रहती है या ब्लॉक हो जाता है, तो राउटर manually दूसरे path को डिसाइड कर लेता है।

नए path को find करने के लिए राउटर RIP, OSPF protocols को फॉलो करता है। Dynamic routing को adaptive routing के नाम से भी जाना जाता है।

3. Default Routing in Hindi – डिफ़ॉल्ट रूटिंग एक ऐसी तकनीक है, जिसमें राउटर सभी पैकेट को एक ही hop डिवाइस पर भेजने के लिए कॉन्फ़िगर किया जाता है, और इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि वह किसी खास नेटवर्क से संबंधित है या नहीं। पैकेट को उस डिवाइस पर भेजा जाता है जिसके लिए उसे डिफ़ॉल्ट रूटिंग में कॉन्फ़िगर किया गया है।

डिफ़ॉल्ट रूटिंग का उपयोग तब किया जाता है जब नेटवर्क में single exit point हैं। जब रूटिंग टेबल में किसी खास रूट का उल्लेख किया जाता है, तो राउटर डिफ़ॉल्ट रूट के बजाय खास रूट का चयन करेगा। डिफ़ॉल्ट रूट तभी चुना जाता है, जब routing table में किसी खास रूट का उल्लेख नहीं किया जाता है।

Types of Routing protocols in Hindi

  • Routing information protocol (रूटिंग इन्फोर्मेशन प्रोटोकॉल) RIP
  • Interior gateway protocol (आंतरिक गेटवे प्रोटोकॉल) IGRP
  • Exterior Gateway Protocol (बाहरी गेटवे प्रोटोकॉल) EGP
  • Border gateway protocol (बॉर्डर गेटवे प्रोटोकॉल) BGP
  • Enhanced interior gateway routing protocol (उन्नत आंतरिक गेटवे रूटिंग प्रोटोकॉल) EIGRP
  • Open shortest path first (पहले सबसे छोटा रास्ता खोलो) OSPF
  • Immediate system-to-immediate system (तत्काल प्रणाली-से-तत्काल प्रणाली) IS-IS

Difference between Switch and Router in Hindi

Switch तथा Router में मुख्य अंतर तालिका के माध्यम से निम्न है –

Switch Router
Switch network device OSI मॉडल की 2 लेयर्स पर काम करता है।Router network device OSI मॉडल की 3 लेयर्स पर काम करता है।
स्विच नेटवर्क डिवाइस के 6 प्रकार होते हैं।राउटर नेटवर्क डिवाइस के 5 प्रकार होते हैं।
स्विच नेटवर्क डिवाइस, राउटर नेटवर्क डिवाइस की अपेक्षा सस्ता होता है।राउटर नेटवर्क डिवाइस महंगा होता है।
Switch network device मल्टीपोर्ट डिवाइस होता है।Router network device मल्टीपोर्ट डिवाइस हो सकता है।

FAQ – Routing in Hindi

रूटिंग किसे कहते है?

Routing शब्द route शब्द से आया है। जिसका अर्थ रास्ता होता है, जिसकी सहायता से डाटा पैकेट को भेजा जाता है या ट्रांसफर किया जाता है।

रूटिंग कितने प्रकार की होती है?

Routing के मुख्य रूप से तीन प्रकार होते हैं – 1. Static Routing 2. Dynamic Routing 3. Default Routing

राउटर नेटवर्क डिवाइस कौन कौनसी लेयर्स पर काम करता है?

Router network device सामान्यतः OSI model की Physical layer, Data link layer और Network layer पर काम करता है। Router multiport नेटवर्क डिवाइस होता है।

1 thought on “Routing in Hindi | Static routing in Hindi | Dynamic routing in Hindi”

  1. Pingback: OSI model in Hindi । सात लेयर्स

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *