hinditoper.com

hinditoper.com
the selfish giant

the selfish giant summary | the selfish giant class 8

hinditoper.com द्वारा लिखे गए the selfish giant class 8 के इस लेख में the selfish giant story का सारांश हिंदी में तथा अंग्रेजी भाषा में (the selfish giant summary) विस्तृत रूप से दिया गया है –

the selfish giant –

the selfish giant में Giant का मतलब राक्षस या दानव होता है। उस giant का एक बहुत ही खूबसूरत गार्डन होता है। गार्डन के आस पास जो घर थे, उन घर के बच्चे उस गार्डन में खेलने आते है। एक दिन बच्चों को गार्डन में खेलता देख giant आता है और बच्चों को भगा देता है। Giant बच्चों से कहता है कि आज के बाद तुम लोग यहां खेलने मत आना नही तो……

the selfish giant summary in hindi – हिंदी में

the selfish giant summary in hindi – the selfish giant एक कहानी है। the selfish giant कहानी में एक राक्षस रहता है जिसका एक बहुत ही सुन्दर और आकर्षक गार्डन होता है। दोपहर में जब बच्चों के स्कूल की छुट्टी हो जाती है तब बच्चे वहां रोजाना खेलने आते थे। Giant का गार्डन इतना खूबसूरत और बड़ा था कि बच्चों को गार्डन में खेलने में बहुत ही मज़ा और खुशी होती। परंतु 7 साल के बाद वह giant एक दिन अपने गार्डन में आता है।

अगर किसी ने भी अंदर आने की कोशिश की तो मैं उसे बहुत ही कड़ी सजा दूंगा। छोटे छोटे बच्चे उस दीवार को पार नहीं कर सकते थे। लेकिन यदि किसी भी प्रकार से दीवार को पार कर लिया और giant ने हमे पकड़ लिया तो वह कड़ी से कड़ी सजा हमे देंगा, इस तरह की बाते बच्चों में होने लगीं, कुछ समय बाद मोसम बदला।

spring का सीजन आया। स्प्रिंग के सीजन में सभी पेड़, पौधे फलते फूलते है। स्प्रिंग का सीजन सभी जगह आया था लेकिन giant के गार्डन में नहीं आया था उसका गार्डन वैसा का वैसा ही था, giant के गार्डन में तो पक्षी भी नही आते थे।

Giant ने सोचा की ऐसा क्यों हो रहा है? आस पास सभी जगह स्प्रिंग का सीजन दिख रहा है लेकिन मेरे गार्डन में क्यों नहीं? फिर giant को ख्याल आया कि शायद मैंने बच्चों को गार्डन में आने से मना कर दिया इसकी वजह से मेरे गार्डन में स्प्रिंग नही आया है। बड़ी मुश्किल से एक फूल आया था वह भी मुर्झा गया क्योंकि दीवार पर लिखा था की कोई भी घुसपेठियां का बच्चा गार्डन में न आए ऐसा फूल सोचता है। Giant सोचता है कि यदि मेरे गार्डन में स्प्रिंग नही आया तो में कैसे इस मौसम में फल फूल खाऊंगा?

एक दिन सुबह सुबह उसे गार्डन में से एक पतली आवाज में गाने की मधुर आवाज आती है। यह सुनकर जब giant garden में आकर देखता है तो गार्डन में बच्चे खेल रहे थे पक्षी भी चहचहा रहे थे। यह देखकर giant को बहुत ही आश्चर्य होता है की ऐसा कैसे हुआ?

Giant के गार्डन में भी स्प्रिंग आ गई थी। वह देखता है कि ऐसा कैसे हुआ तभी उसकी नज़र बाहर बनी हुई दीवार पर जाती है जो उसके द्वारा बनाई गई थी, उस दीवार में एक छोटा छेद रह जाता है जिसमे से निकल कर बच्चे गार्डन में आ जाते थे, बच्चों के आ जाने से giant के गार्डन में भी स्प्रिंग आ गई थी।

Giant बहुत ही खुश हुआ, तभी वह अपने गार्डन के एक कोने में एक बच्चे को देखता है, वह बच्चा रो रहा था क्योंकि उसे पास में लगे पेड़ पर बैठना था, यह देखकर giant उस बच्चे के पास जाता है giant के आने से बाकी सारे बच्चे वहां से भाग जाते है। लेकिन giant रो रहे बच्चे के पास जाता है और उसे पेड़ की डाल पर बिठा देता है। वह बच्चा giant को kiss भी करता है। यह देख कर दूर खड़े बच्चे सोचते है कि giant उतना बुरा नही है जितना हम सोचते है।

यह सब देखकर बच्चे वापिस से giant के गार्डन में आ जाते है। बच्चों के वापिस आने से giant भी गार्डन के आसपास बनी दीवार को हटा देता है। बच्चों के आने से पक्षियों के चहचहाने से गार्डन और भी खूबसूरत हो जाता है। अब giant भी खुद बच्चों के साथ खेलता है उनके साथ मस्ती करता है। लेकिन giant बहुत दिनों से एक बात नोटिस कर रहा था की जिस बच्चे को उसने पेड़ पर बिठाया था वह बहुत दिनों से नही आ रहा था।

giant बहुत ही उदास होता है। अब वह बाकी बच्चों के साथ भी नही खेलता है बस एक कोने में से ही सारे बच्चों को खेलता हुआ देखता है और सोचता है कि बच्चे फूल की तरह होते है जहां वे रहते है वह खुशी की बाहर सी आ जाती है।

बच्चों के गार्डन में रहने से वहा बहुत लंबे समय तक स्प्रिंग का सीजन बना रहता है, यह देखकर giant हैरान हो जाता है। लेकिन इससे भी ज्यादा हैरान तब होता है जब giant उस बच्चे को देखता है जिसे उसने पेड़ पर बिठाया था वह बच्चा अब बड़ा हो गया था, उसे देखकर giant उसके पास जाता है। बच्चे के पास जाकर वह देखता है कि उसके शरीर पर घाव थे।

यह देखकर giant को बहुत ही गुस्सा आता है वह कहता है कि मुझे बताओ ये किसने किया है? मैं उसे जान से मार दूंगा। वह बच्चा giant से कहता है कि तुम शांत हो जाओ, ये जो घाव तुम देख रहे हो वो प्यार के घाव है। मैं तुम्हारे गार्डन में बहुत खेल लिया अब तुम मेरे साथ मेरे गार्डन में चलो। वह बच्चा और कोई नही एंजल था जो giant को स्वर्ग में ले जाने को बोल रहा था। Giant बहुत ही बूढ़ा हो जाता है और अंत में giant मर जाता है।

Giant को वह बच्चा अपने साथ स्वर्ग ले जाता है।

the selfish giant summary

the selfish giant summary – the selfish giant is a story. In the story the selfish giant, there lives a giant who has a very beautiful and attractive garden. Children used to come there to play daily in the afternoon when they were out of school. The Giant’s garden was so beautiful and big that children had a lot of fun and happiness playing in the garden. But one day after 7 years the giant comes to his garden.

He gets very angry seeing the children playing in the garden, and tells them that now there is no need to come to this garden, all of you should play outside this garden from now on, if you all are seen in this garden now. It would not be right. Hearing this, all the children run away from there, after the children leave, the giant builds a wall around the garden and writes on that wall that no child or intruder should try to enter inside.

If anyone tries to come inside, I will punish him very severely. Small children could not cross that wall. But if by any means we crossed the wall and the giant caught us, he would give us the harshest punishment, such talks started happening among the children, after some time the weather changed.

Spring season has come. All trees and plants flourish in the spring season. Spring season had come everywhere but had not come in the giant’s garden. His garden remained the same, even birds did not come to the giant’s garden.

Giant wondered why this was happening? Spring season is visible everywhere around but why not in my garden? Then the giant thought that perhaps because I had forbidden the children to come to the garden, spring has not come in my garden. A flower had come with great difficulty and that too withered because it was written on the wall that no child of an intruder should enter the garden. Giant thinks that if spring does not come in my garden then how will I enjoy fruits and flowers in this season?

One day early in the morning he hears a sweet voice singing in a thin voice from the garden. Hearing this, when the giant came to the garden, he saw that children were playing in the garden and birds were also chirping. Seeing this the giant is very surprised as to how this happened?

Giant became very happy, then he sees a child in a corner of his garden, that child was crying because he had to sit on the nearby tree, seeing this the giant goes to that child. Due to the giant’s arrival, all the others The children run away from there. But the giant goes to the crying child and makes him sit on a tree branch. That child also kisses the giant. Seeing this, the children standing at a distance think that the giant is not as bad as we think.

Seeing all this the children come back to the giant’s garden. With the children’s return, the giant also removes the wall built around the garden. With the arrival of children the garden becomes even more beautiful with the chirping of birds. Now the giant himself plays with the children and has fun with them. But the giant had been noticing one thing for a long time that the child whom he had made to sit on the tree was not coming for a long time.

The giant is very sad. Now he does not even play with other children, he just watches all the children playing from a corner and thinks that children are like flowers, wherever they live, happiness seems to come from outside.

The giant is surprised to see that due to the children’s stay in the garden, the spring season lasts for a very long time. But he is even more surprised when the giant sees the child whom he had placed on the tree. That child has now grown up, seeing him the giant goes to him. Going near the child he sees that there were wounds on his body.

Seeing this the giant gets very angry and says tell me who has done this? I will kill him. The child tells the giant to calm down, these wounds you see are wounds of love. I have played a lot in your garden, now you come with me to my garden. That child was none other than an angel who was asking the giant to be taken to heaven. The giant grows very old and eventually dies.

The child takes the Giant with him to heaven.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *